Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली में हिंसा के खिलाफ कांग्रेस का ‘शांति मार्च’, पुलिस के रोकने पर धरने पर बैठीं प्रियंका

दिल्ली में हिंसा के खिलाफ कांग्रेस का ‘शांति मार्च’, पुलिस के रोकने पर धरने पर बैठीं प्रियंका

0
65

दिल्ली में आज लगातार चौथे दिन भी हिंसा जारी है. हालांकि आज कोई बड़ी घटना सामने नहीं आई. मगर लोगों में तीन दिन से हो रही हिंसा का डर बना हुआ है. हिंसा को लेकर आज कांग्रेस भी खुलकर समाने आई. पहले तो हिंसा को लेकर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने बैठक की. बैठक बाद फैसला किया गया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आज दिल्ली हिंसा का मुद्दा उठाने के लिए राष्ट्रपति भवन तक मार्च करेंगे.

दिल्ली में हुए हिंसा के खिलाफ कांग्रेस ने बुधवार को ‘शांति मार्च’ निकाला. कांग्रेस मुख्यालय से गांधी स्मृति तक मार्च निकाला गया. इस मार्च में प्रियंका गांधी सुष्मिता देव, केसी वेणुगोपाल और अन्य कांग्रेस नेता शामिल हुए. पुलिस ने ‘शांति मार्च’ में भाग ले रहे कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को जनपथ रोड पर ही रोक दिया. प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि इस शहर में लोग काम ढूंढने आते हैं, आज इस शहर में आग उगल रही है.

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘हम आज गृह मंत्री जी की कोठी तक चलकर उनका इस्तीफा मांगना चाहते थे, हमें पुलिस ने रोका है. इस शहर को तबाह किया जा रहा है, इस शहर में लोग काम ढूंढने आते हैं, आज इस शहर में आग उगल रही है, हम एक ऐसी पार्टी के कार्यकर्ता हैं जिसके जरिए इस देश को आजादी मिली.’

इसके बाद प्रियंका गांधी वाड्रा सामने आई और उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली के लोगों से अपील करती हूं कि वे हिंसा न करें, सावधानी बरतें और शांति बनाए रखें. हमने उत्तर प्रदेश में भी अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि वे शांति बनाए रखने में मदद करें.