Gujarat Exclusive > राजनीति > सांसदों के निलंबन के खिलाफ कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, संसद परिसर में लगा ‘गृह मंत्री इस्तीफा दो’का नारा

सांसदों के निलंबन के खिलाफ कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, संसद परिसर में लगा ‘गृह मंत्री इस्तीफा दो’का नारा

0
253

दिल्ली हिंसा के मुद्दे को विपक्ष किसी भी हाल में छोड़ने के लिए तैयार नहीं है. इसके कारण लगातार सोमवार से संसद की कार्यवाही ठीक तरह से चल नहीं पा रही है. आज भी इसी मुद्दे को लेकर विपक्ष ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के पास प्रदर्शन किया और गृह मंत्री अमित शाह का इस्तीफा मांगा. वहीं गुरुवार को दुर्व्यवहार की वजह से लोकसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के सात सांसदों को निलंबित कर दिया था. माना जा रहा है कि कांग्रेस स्पीकर से मुलाकात करेगी और निलंबन रद्द करने की मांग करेगी.

संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने हुए इस विरोध प्रदर्शन की अगुवाई पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने की, विरोध प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस नेताओं ने अपनी बांह पर काली पट्टी बांध रखी थी. राहुल गांधी और कई अन्य सदस्य बाद में काली पट्टी बांधकर ही लोकसभा की कार्यवाही में शामिल हुए. अपने सात सदस्यों के निलंबन का विरोध कर रहे कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि यह कदम सरकार ने विपक्ष को डराने के मकसद से उठाया है.

निलंबित सदस्यों में से एक गौरव गोगोई ने कहा, ”हम निलंबन से डरने वाले नहीं हैं. हम दिल्ली हिंसा पर चर्चा की मांग उठाते और सरकार से जवाब मांगते रहेंगे.” इस दौरान कांग्रेस सांसदों ने ‘गृह मंत्री इस्तीफा दो’ और ‘प्रधानमंत्री जवाब दो’ के नारे भी लगाए. इस प्रदर्शन में राहुल गांधी के साथ के. सुरेश, शशि थरूर, गौरव गोगोई और कांग्रेस के कई अन्य सांसद शामिल हुए.

गौरतलब है कि कांग्रेस के गौरव गोगोई, टी एन प्रतापन, डीन कुरियाकोस, राजमोहन उन्नीथन, बैनी बहनान, मणिकम टेगोर और गुरजीत सिंह औजला को बृहस्पतिवार को सदन का अनादर करने और ‘घोर कदाचार’ के मामले में मौजूदा संसद सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित कर दिया था. पीठासीन सभापति मीनाक्षी लेखी ने कहा कि कांग्रेस सदस्यों द्वारा अध्यक्षीय पीठ से बलपूर्वक कागज छीने जाने और उछालने का ऐसा दुर्भाग्यपूर्ण आचरण संसदीय इतिहास में संभवत: पहली बार हुआ है.