Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना की गिरफ्त में भुज RTO के 40 फीसदी से ज्यादा कर्मचारी

कोरोना की गिरफ्त में भुज RTO के 40 फीसदी से ज्यादा कर्मचारी

0
388
  • News: भुज प्रादेशिक परिवहन कार्यालय में कोरोना की एंट्री
  • आरटीओ प्रतिनिधिमंडल ने की स्वैच्छिक कार्यालय नहीं आने की अपील
  • शुक्रवार और शनिवार को 11 अधिकारी-कर्मचारी हुए कोरोना संक्रमित

भुज क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के अधिकारी और कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ गए हैं. 40 फीसदी से ज्यादा कर्मचारी संक्रमित होने के बाद RTO प्रतिनिधिमंडल ने अन्य कर्मचारियों को स्वेच्छा से कार्यालय नहीं आने की अपील की है.

क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में शुक्रवार और शनिवार को 11 से ज्यादा अधिकारी-कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी.

जिसके कारण आरटीओ में भारी भय का माहौल पैदा हो गया है.

कोरोना की चपेट में आए 11 कर्मचारी news

फिटनेस और टेस्ट ट्रैक संचालन को बंद करने के लिए उच्च अधिकारियों के आदेश का इंतजार किया जा रहा है. आपको बता दें कि कोविड -19 ने भुज आरटीओ स्टाफ के 11 लोगों को एक साथ शिकार बना लिया है.

क्लर्क-हेड क्लर्क, आरटीओ प्यून जीआईएसएफ गार्ड और एक इंस्पेक्टर का कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आया है.

यहां हर दिन 400 से 500 लोगों की आमद होती है जिसके कारण भुज आरटीओ में संक्रमण का खतरा और ज्यादा बढ़ जाता है.

यह भी पढ़ें: कोरोना की चपेट में आए जयेश रादडिया, राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाज की बिगड़ी तबीयत

आरटीओ कार्यालय में निरीक्षक, संचालक के साथ-साथ क्लर्क, वरिष्ठ क्लर्क और हेड क्लर्क का स्टाफ काम करता है. एक समिति बनाई गई है जो अब दफ्तर के मुख्य द्वार पर बैठेगी.

आवश्यक काम के लिए ही दफ्तर में एंट्री दी जाएगी.

कुछ दिन दफ्तर में नहीं आने की अपील news

मोटरिंग पब्लिक प्रतिनिधिमंडल के एक सदस्य उमर समा ने कहा, “कार्यालय के कुछ अधिकारी और कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं.

इसलिए लोगों से अपील की जाती है कि आरटीओं से जुड़े काम के लिए अभी कुछ दिन दफ्तर आने से बचें.इतना ही नहीं एजेंट मित्रों को स्वैच्छिक होम क्वरंटाइन होने की अपील की गई है.”

आरटीओ ने की अपील news

दूसरी ओर आरटीओ सी. डी पटेल ने कहा, “40 प्रतिशत से अधिक कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं जिसकी वजह से कार्यालय बंद जैसे हालत में है.”

सरकार ने दिसंबर तक छूट दी है इसलिए लोगों से अपील की जा रही है लोग दफ्तर आने से बचें. कुछ दिनों के लिए आवेदक या एजेंट मित्रों को कार्यालय में आने से बचना चाहिए.

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि जो कर्मचारी कोरोना की चपेट में आए हैं उनसे संपर्क में आने वाले अन्य कर्मचारियों को होम क्वरंटाइम में रहने की सलाह दी गई है.

एजेंट और ऑपरेटरों की वजह से बना सुपर स्प्रेड news

गांधीधाम के एजेंट लगातार भुज आरटीओ कार्यालय में आते जाते रहते हैं. सबसे पहले एक इंस्पेक्टर कोरोना की चपेट में आया था.

उसके साथ अंजार का एक ऑपरेटर भी संक्रमित हो गया था. माना जा रहा है कि इसीलिए कार्यालय में कोरोना का सुपर स्प्रेड हो गया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

मास्क पहनने पर विवाद: नारणपुरा और बापूनगर में पुलिस के साथ व्यापारियों की झड़प