Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना मुक्त घोषित होने वाले न्यूजीलैंड में सामने आए नए मामले

कोरोना मुक्त घोषित होने वाले न्यूजीलैंड में सामने आए नए मामले

0
1692

कोरोना वायरस का आतंक यूं तो करीब-करीब पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है लेकिन कुछ देश ऐसे भी हैं जो धीरे-धीरे कोरोना संक्रमण से पूरी तरह उबर रहे हैं. न्यूजीलैंड ने 8 जून को खुद को कोरोना मुक्त घोषित किया था लेकिन एक हफ्ते बाद ही इस खूबसूरत देश में कोरोना संक्रमण की वापसी हो गई है. न्यूजीलैंड में दो नए मामले सामने आए हैं. हालांकि दो नए मामले आने के बाद न्यूजीलैंड पहले से ज्यादा सख्त हो गया है. खबरों के मुताबिक अब क्वारेंटाइन फैसिलिटी में नियमों का पालन कराने के लिए न्यूजीलैंड में मिलिट्री की तैनाती करने का फैसला लिया गया है.

दरअसल में ब्रिटेन से 2 महिलाएं न्यूजीलैंड आई थीं. उन्होंने बीमार रिश्तेदार से मिलने के लिए न्यूजीलैंड आने की इजाजत मांगी थी. न्यूजीलैंड में आने के बाद उन्हें 14 दिनों तक क्वारेंटाइन के लिए एक होटल में रहना था लेकिन 14 दिन पूरा किए बिना ही उन्हें होटल से जाने की इजाजत दे दी गई. ब्रिटेन की दोनों महिलाओं को सहानुभूति के आधार पर ही 14 दिन से पहले बाहर जाने की इजाजत मिली थी. इससे पहले 24 दिन तक न्यूजीलैंड में कोरोना का एक भी नया केस सामने नहीं आया था.

खबरों के मुताबिक होटल से निकलकर दोनों महिलाओं ने ऑकलैंड से वेलिंगटन तक 650 किमी का सफर कार से तय किया. अब इसकी वजह से सैकड़ों लोगों पर कोरोना का खतरा पैदा हो गया है. प्रशासन अब ऐसे हर व्यक्ति की तलाश कर रहा है जो दोनों महिलाओं के संपर्क में आए थे. अब तक 320 लोगों की पहचान कर ली गई है.

उधर न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न ने इस मामले पर गलती स्वीकार कर ली है. पीएम जसिंडा अर्डर्न ने कहा है कि अब किसी को भी सहानुभूति के आधार पर क्वारेंटाइन से बाहर जाने की इजाजत नहीं मिलेगी. जसिंडा ने कहा कि जो हुआ उसे दोहराया नहीं जाएगा. जसिंडा अर्डर्न ने कहा कि बिना जांच के दोनों महिलाओं को क्वारनटीन से बाहर जाने की इजाजत देना सिस्टम की असफलता है. ये अस्वीकार्य है.

चीनी सैनिकों ने हमारी सीमा में टेंट लगाने की कोशिश की: विदेश मंत्रालय