Gujarat Exclusive > गुजरात > अहमदाबाद में दिल्ली से तीन गुना ज्यादा हो रही है कोरोना संक्रमितों की जांच: AMC कमिश्नर

अहमदाबाद में दिल्ली से तीन गुना ज्यादा हो रही है कोरोना संक्रमितों की जांच: AMC कमिश्नर

0
1608

अहमदाबाद: गुजरात में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. जिसमें सबसे ज्यादा अहमदाबाद में संक्रमित मामलों की संख्या दिखाई दे रही है. शहर में लगातार बढ़ते हुए मामले को लेकर अहमदाबाद म्युनिसिपल कमिश्नर विजय नेहरा ने रूटीन प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि सक्रिय मामलों की दर में कमी आ रही है लेकिन अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है. उन्होंने कहा कि एसवीपी अस्पताल की क्षमता लगभग पूरी हो चुकी है इसलिए अब नए मरीजों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि शहर में अब तक कुल 22837 परीक्षण किए गए हैं, और यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. परीक्षण के मामले में हम सबसे अच्छी स्थिति में हैं और दिल्ली की तुलना में तीन गुना अधिक परीक्षण कर रहे हैं.

विजय नेहरा ने कहा कि अहमदाबाद में सक्रिय मामलों की संख्या में कमी आई है. सक्रिय मामलों में 10 प्रतिशत की वृद्धि दर थी जो अब घट गई है. 3 तारीख तक 5 से 6 फीसदी होने की उम्मीद जताई जा रही है. उन्होंने कहा कि मई में दुकानें और बाजार खुलेंगे, अगर लॉकडाउन में खुलता है और सभी लोग एक साथ बाजार जाते हैं तो कोरोना के संक्रमण को रोका नहीं जा सकता है.

उन्होंने कहा कि आने वाले कुछ महिनों के लिए हमें “मास्क को अपने आदतों में शामिल करना होगा, व्यापारियों को दुकान पर सैनिटाइज़र की व्यवस्था करनी होगी. साबुन से बार-बार हाथ धोएं. घर आने से पहले हाथ धो लें मास्क, हैंड वॉश और सैनिटाइज़र रखना अपनी जिम्मेदारी समझ लें. सार्वजनिक रूप से नहीं थूके, दुपहिया वाहन पर अधिक लोगों को एक साथ बाहर न निकालें और जबतक स्थिति सामान्य ना हो भीड़ का हिस्सा ना बने.

कोरोना पॉजिटिव मामलों की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि आज सुबह 11 बजे तक 178 मामले सामने आए हैं, 18 लोगों की मौत हुई है और 18 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. अहमदाबाद में कुल 1854 सक्रिय मामले हैं. जिसमें से 43 लोगों को वेंटिलेटर पर रखा गया है. 1811 लोगों की हालत स्थिर है. एसवीपी में 642 सक्रिय मामले हैं, सिविल अस्पताल 547 मामले, समरस हॉस्टल में 591 लोगों का इलाज चल रहा है, एचसीजी 14, स्टर्लिंग 16, फर्न कोविद केयर सेंटर और हज हाउस सेंटर में 16 मरीजों का इलाज किया जा रहा है.

सूरत में कोरोना को मात देकर घर लौटे दो मासूम, 8 दिनों के इलाज के बाद मिली कामयाबी