Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > अमेरिका में जानवरों के बीच पैर पसार रहा है कोरोना, भारत के चिड़ियाघरों में हाइअलर्ट

अमेरिका में जानवरों के बीच पैर पसार रहा है कोरोना, भारत के चिड़ियाघरों में हाइअलर्ट

0
2072

अमेरिका के एक चिड़ियाघर में एक बाघ के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि के बाद केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने सोमवार को देश के सभी चिड़ियाघरों से हाइअलर्ट पर रहने और संदिग्ध मामलों में नमूने लेने के लिए कहा है. सीजेडए सदस्य सचिव एसपी यादव ने राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों को लिखे गए एक पत्र में कहा, ‘अमेरिका के कृषि विभाग की राष्ट्रीय पशु चिकित्सा सेवा ने न्यूयॉर्क के ब्रोन्क्स चिड़ियाघर में एक बाघ के कोविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि की है.’

पत्र में कहा गया है, इसलिए देश के सभी चिड़ियाघरों को सलाह दी जाती है कि वह सतर्क रहें और सीसीटीवी के जरिए जानवरों के किसी भी असामान्य व्यवहार या लक्षण का पता लगाने के लिए हर पल नजर रखें. प्राधिकरण ने कहा कि स्तनपायी जीव खासतौर पर बिल्लियों, गंधबिलाव और बंदरों पर सतर्कता से निगरानी करने और संदिग्ध मामलों के नमूने पाक्षिक रूप से कोविड-19 की जांच के लिए तय किए गए पशु स्वास्थ्य संस्थानों में भेजे जाने की जरूरत है.

गौरतलब है कि न्यूयार्क के एक चिड़ियाघर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक बाघिन के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. यह इस तरह का पहला मामला है. अमेरिकी कृषि विभाग की राष्ट्रीय पशु चिकित्सा सेवा प्रयोगशालाओं के अनुसार, ब्रोन्क्स चिड़ियाघर में एक बाघिन में कोरोनो वायरस का टेस्ट पॉजिटिव आया है. बाघ में कोरोना संक्रमित होने का यह पहला मामला है.

वाइल्डलाइफ कंजर्वेशन सोसाइटी की ब्रोन्क्स ज़ू ने एक विज्ञप्ति में कहा कि इस बाघिन में कोरना वायरस किसी व्यक्ति से ट्रांसफर हुआ होगा. इस बाघिन की उम्र 4 साल की है. ब्रोन्क्स चिड़ियाघर 16 मार्च से ही जनता के लिए बंद कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि इस जू में पांच अन्य बाघों और शेरों के सैम्पल लिए गए, जिसमें इनमें सांस की बीमारी के सिम्पटम्स दिख रहे हैं. ब्रोन्क्स चिड़ियाघर में कई जानवर रहते हैं लेकिन किसी जानवर में इस तरह के कोई सिम्पटम्स नहीं दिख रहे हैं.

आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीज ने स्टाफ के साथ की अभद्रता, DM के निर्देश पर पहुंचा जेल