Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत में कोरोना के नए स्ट्रेन की एंट्री, यूके से लौटे 6 लोग पाए गए संक्रमित

भारत में कोरोना के नए स्ट्रेन की एंट्री, यूके से लौटे 6 लोग पाए गए संक्रमित

0
388

भारत में कोरोना के नए मामलों में बीते कुछ दिनों से लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. नए मामलों में दर्ज की जाने वाली गिरावट के बाद ऐसा लगता है कि भारत में कोरोना अपनी ढलान पर है.

लेकिन ब्रिटेन में पाया गया कोरोना के घातक नए स्ट्रेन की भारत में एंट्री हो चुकी है. वहां से लौटे 6 लोगों का सैंपल पॉजिटिव आया है. Corona new strain India entry 

इनमें से 3 लोग निमहंस बेंगलुरु, 2 सीसीएमबी हैदराबाद और एक एनआईवी पुणे में भर्ती हैं.

भारत में कोरोन के नए स्ट्रेन की एंट्री  Corona new strain India entry 

ब्रिटेन में पाए गए कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में जानकार बता रहे हैं कि करोना का यह नया स्ट्रेन मौजूदा रूप से 70 फीसदी ज्यादा घातक है. Corona new strain India entry 

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार इन सभी संक्रमितों को सिंगल आइसोलेशन रूम में रखा गया है. मंत्रालय ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच करीब ब्रिटेन से करीब 33 हजार लोग भारत के अलग-अलग एयरपोर्ट पर उतरे हैं.

इन सभी यात्रियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाया था. जिनमें से अबतक 114 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. लेकिन इन्ही में से 6 लोगों में कोरोना के स्ट्रेन का लक्षण दिखा है.

कोरोना के नए स्ट्रन दुनिया भर में तनाव

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का मामला सामने आने के बाद दुनियाभर के वैज्ञानिक हरकत में आ गए. यूरोपीय संघ के कई देश ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर रोक लगा दी थी.

बावजूद इसके अबतक 16 देशों में नया स्ट्रेन दस्तक दे चुका है. यह नया स्ट्रेन 70 फीसदी ज्यादा मौजूदा कोरोना वायरस से घातक है.

कोरोने के नए प्रकार की जानकारी सामने आने के बाद पूरी दुनिया में तनाव की स्थिति पैदा हो गई.

अभी नहीं हुआ बेकाबू, रोका जा सकता- WHO Corona new strain India entry 

बता दें कि नए स्ट्रेन के मामले तेजी से बढ़ने के बाद भारत ने ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है. Corona new strain India entry 

इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा कि ब्रिटेन में पाया गया कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन अभी नियंत्रण से बाहर नहीं है और मौजूदा उपायों के जरिए इस पर काबू पाया जा सकता है.

संगठन के स्वास्थ्य आपात काल प्रमुख माइक रायन ने जिनेवा में एक प्रेस वार्ता में बताया, “स्थिति काबू से बाहर नहीं है लेकिन इसे अपने पर छोड़ा भी नहीं जा सकता है.”

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

भारत कोरोना से जारी जंग जीतने के करीब, 6 महीने बाद सबसे कम नए मामले दर्ज