Gujarat Exclusive > गुजरात > HC की सख्त टिप्पणी के बाद CM रुपाणी ने कहा- नेताओं को भी करना होगा नियमों का पालन

HC की सख्त टिप्पणी के बाद CM रुपाणी ने कहा- नेताओं को भी करना होगा नियमों का पालन

0
257
  • कोरोना नियमों को नजर अंदाज करने वाले नेताओं को हाईकोर्ट ने लगाई फटकार
  • हाईकोर्ट के फटकार के बाद सीएम रूपाणी ने नेताओं से की अपील
  • सभी नेताओं को नियमों का करना होगा पालन

अहमदाबाद: गुजरात में कोरोना का कहर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. कोरोना पर काबू पाने के लिए बनाए गए नियमों को जहां आम आदमी नजर अंदाज कर रहे हैं.

वहीं नेता भी इसमें पीछे नहीं नजर आ रहे. कोरोना को लेकर जारी की गई दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने वाले नेताओं के खिलाफ गुजरात हाईकोर्ट ने सख्त रवैया अपनाया है.

अदालत ने सोमवार को मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं करने वाले नेताओं से जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया है.

कोर्ट के निर्देश के बाद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी नेताओं को सख्त निर्देश दिया है.

हाईकोर्ट के फटकार के बाद सीएम रूपाणी ने नेताओं से की अपील

सीएम विजय रूपाणी ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि “नेताओं को कोरोना के नियमों का पालन करना होगा. समाज में गलत संदेश ना जाए नेताओं को इसका ख्याल रखना होगा.

कोरोना से बचने के लिए सभी को अनिवार्य मास्क पहनना चाहिए.”

यह भी पढ़ें: अहमदाबाद: श्मशान गृह से कोरोना संक्रमित पिता के शव को लेकर पुत्र फरार

उल्लेखनीय है कि गुजरात उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति जेबी पारडीवाला की पीठ ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सरकारी वकील से कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए और जुर्माना लगाया जाना चाहिए.

उच्च न्यायालय ने 5 अक्टूबर को राज्य सरकार को गैर-जिम्मेदार राजनीतिक नेताओं पर कड़ी कार्रवाई करने और भारी जुर्माना लगाने का निर्देश दिया था.

हाईकोर्ट ने राजनीतिक रैलियों में सामाजिक दूरी का उल्लंघन, भारी संख्या में लोगों का एक जगह पर जमा होने के मामले चिंता व्यक्त की थी.

गुजरात हाईकोर्ट ने की अलोचना

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस का प्रसार गुजरात सहित पूरे देश में बढ़ रहा है. राजनीतिक नेताओं की रैलियों में नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है.

गुजरात उच्च न्यायालय ने इस संबंध में कठोर टिप्पणी किया और सरकारी वकील से ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और जुर्माना वसूलने की बात कही.

उच्च न्यायालय ने कहा, “आज भी नेता राजनीतिक रैलियों में मास्क नहीं पहनते हैं”

किन नेताओं ने तोड़े नियम?

अहमदाबाद महापौर बिजल पटेल ने चार महीने पहले अपने लॉ गार्डन बंगले में एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान मास्क नहीं पहना था.

इसके अलावा इसकी तस्वीर भी उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट की थीं. जिसमें अधिकारी मास्क पहने हुए दिखाई दे रहे थे. लेकिन फोटो में मेयर बिजल पटेल बिना मास्क नजर आ रही है.

इतना ही नहीं सोमवार को भी अहमदाबाद महापौर बिना मास्क एक उद्घाटन प्रोग्राम में पहुंच गई. इस दौरान उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी दरकिनार कर दिया था.

उससे पहले सीआर पाटिल भी रैलियों के दौरान कोरोना नियमों का नजर अंदाज कर चुके हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रूपाणी सरकार ने गरीब-सामान्य परिवार को लेकर लिया एक और महत्वपूर्ण निर्णय