Gujarat Exclusive > देश-विदेश > देश में बीते 24 घंटों में दर्ज हुए कोरोना के 67 हजार से ज्यादा नए मामले, 680 की मौत

देश में बीते 24 घंटों में दर्ज हुए कोरोना के 67 हजार से ज्यादा नए मामले, 680 की मौत

0
328

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच आज से देशभर में अनलॉक 5 की शुरुआत हो गई है. करीब 7 महीने के लंबे इंतजार के बाद आज से देशभर में सिनेमाघर, मल्टीप्लेक्स, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खुल गए हैं.

लेकिन इस बीच कोरोना ने अपने पुराने रफ्तार को एक बार फिर से पकड़ लिया है. देश में बीते 24 घंटों में 67 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं.

लेकिन राहत की बात यह है कि इस दौरान सिर्फ 680 लोगों की मौत दर्ज की गई.

67 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में 67,708 कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए. जिसके बाद देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 73 लाख के पार पहुंच गई.

वहीं इस दौरान 680 मरीजों की इस महामारी ने जान ले ली. जिसके बाद देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या एक लाख 11 हजार के पार पहुंच गई.

भारत में सबसे ज्यादा दर्ज हुए कोरोना के नए मामले

कोरोना की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका के मुकाबले भारत में कोरोना के नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं. लेकिन राहत की बात यह है कि आज अमेरिका और ब्राजील के मुकाबले भारत में कम लोगों की मौत दर्ज की गई.

भारत में कोरोना की वजह से 680 लोगों की मौत दर्ज की गई वहीं अमेरिका में 970 और ब्राजील में 716 लोगों की मौत दर्ज की गई.

लेकिन राहत की बात यह है कि एक्टिव मामलों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है.

गुजरात में कोरोना की स्थिति

गुजरात में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार धीरे-धीरे कम होती जा रही है. हालांकि अभी भी नए मामलों की संख्या बहुत ज्यादा राहत नहीं पहुंचाने वाली नजर आ रही है.

राज्य में आज कोरोना के 1175 नए मामले सामने आए. इसके साथ ही राज्य में कोरोना से संक्रमित होने वाले लोगों की कुल संख्या 1,55,098 तक पहुंच गई है.

गुजरात में कोरोना से मरने वालों की संख्या की बात करें तो बीते 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना के कारण 11 लोगों की मौत हो गई.

इसके साथ राज्य में कोरोना से मौत का कुल आंकड़ा 3598 तक पहुंच गया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

लोन मोरेटोरियम मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा- आपके हाथों में आम आदमी की दिवाली