Gujarat Exclusive > गुजरात > वडोदरा: कोरोना मरीजों की मदद के लिए खरीदा गया था रोबोट, 7 माह से खा रहा धूल

वडोदरा: कोरोना मरीजों की मदद के लिए खरीदा गया था रोबोट, 7 माह से खा रहा धूल

0
185

वडोदरा: गुजरात सहित पूरे देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने हाहाकार मचा दिया है. वडोदरा में स्थिति हर गुजरते दिन के साथ चिंताजनक स्तर पर पहुंचती जा रही है.

वडोदरा के सयाजी और गोत्री अस्पताल में कोरोना संक्रमित रोगियों की देखभाल के लिए बीते दिनों 50 लाख रुपये की लागत से 7 रोबोट को खरीदा गया था. Corona Patient Care Robot Discontinued

लेकिन पिछले सात माह से इनका कोई इस्तेमाल नहीं होने की वजह से धूल खा रहे हैं.

कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए खरीदे गए थे रोबोट

मिल रही जानकारी के के अनुसार, पिछले साल कोरोना महामारी की शुरुआत में यानी आज से 8 माह पहले कॉर्पोरेट रिस्पोंसिबिलिटी एथोरिटी द्वारा,

वडोदरा की दो अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीज के इलाज में मदद के लिए 50 लाख रुपये की लागत से 7 रोबोट खरीदे गए थे. Corona Patient Care Robot Discontinued

जिसमें से 3 रोबोट शहर के सयाजी अस्पताल में 3 रोबोट और गोत्री अस्पताल में 4 रोबोट कोरोना मरीजों की देखरेख के लिए लाए गए थे.

सात माह से बंद बड़े रोबोट खा रहे हैं धूल

अस्पताल के कर्मचारियों को संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए एहतियात के तौर पर रोबोट खरीदे गए. Corona Patient Care Robot Discontinued

आइसोलेशन वार्ड में उपचार करवाने वाले संक्रमित रोगियों की जांच के अलावा यह रोबोटों मरीजो को भोजन भी परोसने का काम करता है. Corona Patient Care Robot Discontinued

एक निजी कंपनी द्वारा सीएसआर फंड के तहत दान किया गया, ये रोबोट कोरना संक्रमित मरीजों के साथ-साथ उनके परिवारों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया था.

इतना ही नहीं उस समय कंपनी ने और अधिक रोबोट लगाने की भी घोषणा की थी.

रोबोट लगाने के एक माह तक अच्छे से काम किया लेकिन उसके बाद 7 माह से यह रोबोट बंद हालत में पड़े अस्पताल में धूल खा रहे हैं. Corona Patient Care Robot Discontinued

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात कांग्रेस दफ्तर में बनेगा 50 बेड वाला कोविड केयर सेंटर, नगर निगम से मांगी अनुमति