Gujarat Exclusive > गुजरात > पॉजिटिव या निगेटिव? 30 मिनट में पिता-पुत्र की कोरोना रिपोर्ट आई अलग-अलग

पॉजिटिव या निगेटिव? 30 मिनट में पिता-पुत्र की कोरोना रिपोर्ट आई अलग-अलग

0
392

गुजरात में कोरोना (Gujarat Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच कुछ हैरान कर देने वाली खबरें सामने आती रही हैं. इसी कड़ी में आज अहमदाबाद से एक सोचने पर मजबूर कर देने वाली खबर सामने आई है. अहमदाबाद के नारोल में एक पिता और पुत्र की कोरोना रिपोर्ट (Corona Report) महज 30 मिनटों के अंदर अलग-अलग आई.

दरअसल अहमदाबाद नगर निगम (AMC) ने राज्य नागरिकों के लिए विभिन्न स्थानों पर मुफ्त कोरोना एंटीजेन टेस्ट करा रही है. इस बीच नारोल में रहने वाले एक पिता-पुत्र की जोड़ी ने इस सुविधा का लाभ उठाने का फैसला किया और शनिवार को कोरोना टेस्ट कराने पहुंचे.

टेस्टिंग सेंटर पर कोरोना टेस्ट का रिजल्ट (Corona Report) कुछ मिनटों के भीतर मिल जाता है. ऐसे में पिता और पुत्र की कोरोना रिपोर्ट आई और उसमें उन्हें कोरोना से संक्रमित बताया गया. हालांकि इसके बाद वे दोनों इसनपुर के एक शिविर में फिर कोरोना टेस्ट कराने पहुंचे. इस बार जब उनकी रिपोर्ट (Corona Report) आई तो दोनों कोरोना निगेटिव पाए गए.

यह भी पढ़ें: गुजरात में कोरोना का तांडव जारी, हर 2 घंटे में 1 शख्स की मौत

30 मिनट में कौसे बदला रिजल्ट

इस तरह महज 30 मिनट की अवधि में पिता-पुत्र को कोरोना के दो अलग-अलग एंटीजेट टेस्ट हुए और इसकी रिपोर्ट भी उन्हें दी गईं. AMC के स्टाफ द्वारा किए गए टेस्ट और उनकी रिपोर्टों के बावजूद पिता-पुत्र को समझ नहीं आ रहा है कि वे संक्रमित हैं या नहीं.

गौरतलब है कि पहले भी एंटीजेन टेस्ट की सटीकता को लेकर सवाल उठते रहे हैं. ऐसे में अब एएमसी शिविरों द्वारा दी जा रही एंटीजन टेस्ट रिपोर्ट (Corona Report) की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठने लगे हैं.

पत्नी हुई थी संक्रमित

नारोल निवासी सुचित्रा पाल दो हफ्ते पहले कोरोना संक्रमित पाई गईं थीं. वह होम क्वारंटाइन में थीं. क्वारंटाइन अवधि समाप्त होने के बाद उन्होंने एएमसी के 104 हेल्पलाइन नंबर पर कॉल किया और पूछा कि क्या उसे फिर से कोरोना टेस्ट (Corona Report) कराने की जरूरत है.

एएमसी स्टाफ ने उन्हें बताया कि यदि उनमें कोई लक्षण नहीं है, तो उन्हें टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है. सुचित्रा के पति तपन और बेटे कौशिक ने भी खुद को अलग-अलग कमरों में क्वारंटाइन कर रखा था. हालांकि वे संक्रमित नहीं थे.

चूंकि बेटे को सोमवार से काम पर जाना था, उन्होंने खुद का कोरोना टेस्ट करने का फैसला किया. उन्होंने नारोल में एएमसी के एक परीक्षण शिविर में गए, जहां एंटीजन रिपोर्टों (Corona Report) ने कहा कि वे संक्रमित हैं.

दोबारा टेस्ट कराने की सलाह

सुचित्रा को जब उनकी रिपोर्ट के बारे में पता चला तो उन्हें विश्वास नहीं हुआ, क्योंकि वे अलग-अलग कमरों में क्वारंटाइन थे. इसके बाद उन्होंने उन दोनों को दोबारा टेस्ट कराने की सलाह दी. इसके बाद दोनों एक दूसरे शिविर में कोरोना टेस्ट कराने गए. इस बार इनका टेस्ट इसनपुर में स्थापित एक शिविर में किया गया. यहां उनकी रिपोर्ट (Corona Report) निगेटिव आई.

समझ नहीं आ रहा क्या करें

इस तरह आधे घंटे की अवधि में दोनों की रिपोर्ट (Corona Report) पॉजिटिव से निगेटिव में बदल गई. पिता-पुत्र की ने बताया कि अगर वे खुद को पॉजिटिव मानते हैं तो उन्हें दवाइयां लेनी होंगी और एक और बार 15 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रहना होगा.

वहीं यदि वे खुद को निगेटिव मानते हैं और अपने काम के बारे में सोचते हैं और अगर निगेटिव रिपोर्ट गलत हुई तो इससे दूसरों को संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा. दो अलग-अलग रिपोर्टों ने एएमसी के इस तरह के शिविरों द्वारा आयोजित एंटीजेन टेस्ट की रिपोर्ट की विश्वसनीयता पर संदेह पैदा कर रहा है.

गुजरात में कोरोना की स्थिति

मालूम हो कि गुजरात में कोरोना वायरस (Gujarat Coronavirus) के मामले और उससे होने वाली मौतों का सिलसिला बदस्तूर जारी है. लगातार हो रही मौतों के कारण अब राज्य में कुल मृतकों की संख्या 3500 के करीब पहुंच गई है. राज्य में आज कोरोना (Gujarat Coronavirus) के 1343 नए मामले सामने आए जबकि पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की मौत हो गई. यानी हर दो घंटे पर राज्य में एक मौत हुई.

इसके साथ ही गुजरात में कोरोना (Gujarat Coronavirus) से मरने वालों का आंकड़ा 3490 तक पहुंच गया है. वहीं राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1,41,398 हो गई है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें