Gujarat Exclusive > गुजरात > तब्लीगी जमात के कारण गुजरात में कोरोना फैला- मुख्यमंत्री गुजरात

तब्लीगी जमात के कारण गुजरात में कोरोना फैला- मुख्यमंत्री गुजरात

0
3050

अहमदाबाद: गुजरात सहित पूरे विश्व में कोरोना ने आतंक फैला रखा है. गुजरात में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या 2500 को पार कर गई है. जबकि इस वायरस के कारण 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. ऐसे में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने तब्लीगी जमात पर राज्य में कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली के तब्लीगी जमात में जमा होने वाले लोगों ने कोरोना को गुजरात और देश में पहुंचाने का काम किया है.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा, “अहमदाबाद, सूरत और वडोदरा में कोरोना वायरस के 70 प्रतिशत सकारात्मक मामले देखे जा रहे हैं. ज्यादातर कोरोना संक्रमित लोग जल्दी ठीक हो गए हैं. हॉटस्पॉट इलाकों में अग्रेसिव होकर परीक्षण किया जा रहा है. कोरोना के कारण मरने वाले अधिकांश मरीज किसी न किसी अन्य बीमारी से पीड़ित थे. उन्होंने कहा कि अगर कर्फ्यू नहीं लगाया गया होता, तो संक्रमण और अधिक फैल जाता. संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए राज्य में कर्फ्यू लगाया गया था. साथ ही, रूपानी ने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि गुजरात कोरोना के खिलाफ युद्ध जीत जाएगा.

कोरोना को लेकर पहले गुजरात था तैयार – रूपाणी

मुख्यमंत्री रूपानी ने कहा, “गुजरात सरकार ने 20 मार्च के आसपास कोरोना से लड़ने के लिए अग्रिम योजना बनाई थी. राज्य में साढ़े 9 हजार बेड की व्यवस्था की. जिसमें से अहमदाबाद सिविल अस्पताल में 1200 बेड, एसवीपी में 500 बेड, सूरत, वडोदरा और राजकोट में 2500 बेड के साथ ही साथ अलग-अलग जिलों में व्यवस्था की गई थी. ” हम आज 2500 कोरोना रोगियों तक पहुँच चुके हैं. राज्य में लगभग साढ़े नौ हजार बेड की व्यवस्था की गई है. अकेले अहमदाबाद में साढ़े पांच हजार विशेष वेड का इंतजाम किया गया है. समरस ने छात्रावास में भी बेड की व्यवस्था की गई है.

रूपानी सरकार ने यह भी कहा कि किसी भी कोरोना मरीज का सरकारी अस्पताल में मुफ्त इलाज किया जाएगा. उपचार का पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा. गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि सरकारी अस्पताल में एक उत्कृष्ट व्यवस्था की गई है.

3 मई के बाद ट्रेन सेवा बहाल करने की तैयारी, रेलवे विभाग ने बनाया ये खास प्लान