Gujarat Exclusive > गुजरात > सूरत शहर के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों में भी बढ़ा कोरोना का कहर, 101 नए मामले

सूरत शहर के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों में भी बढ़ा कोरोना का कहर, 101 नए मामले

0
262

सूरत: गुजरात में कोरोना वायरस की नई लहर खतरनाक होती जा रही है. रोज बढ़ते मामलों के बीच राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या में उछाल देखने को मिल रहा है.

रोज दर्ज हो रहे नए मामलों को देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि सूरत कोरोना का नया हॉटस्पॉट बनता जा रहा है. Corona terror increased Surat rural

सूरत शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या खतरनाक रूप से बढ़ रही है. ग्रामीण सूरत में मंगलवार को 101 और सकारात्मक मामले सामने आए.

सूरत के ग्रामीण इलाकों में बाहर से आने वाले लोगों के कारण संक्रमण लगातार बढ़ रहा है.

सूरत बना कोरोना का नया हॉटस्पॉट Corona terror increased Surat rural

नए मामलों को जोड़ने के साथ ग्रामीण सूरत में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 13,982 तक पहुंच गई है. इनमें से 13,010 मरीज कोरोना को मात देने में सफल रहे हैं.

जबकि 287 लोगों की मौतें हुई है. वर्तमान में ग्रामीण सूरत में कोरोना का 685 एक्टिव मामले हैं. सूरत जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, कामराज तालुका में ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के सबसे अधिक 26 मामले सामने आए हैं. Corona terror increased Surat rural

इसके अलावा चोर्यासी तालुका में 18, पलसाणा में 16, बारडोली तालुका में 15, ओलपाड में 13, मांडवी में 7, मांगरोल में 5 और महुवा तालुका में 1 सकारात्मक मामले सामने आए हैं.

शहर के बाद ग्रामीण इलाकों में बढ़ा कोरोना का कहर Corona terror increased Surat rural

सूरत जिले के 9 तालुकाओं में से चोर्यासी में 2726, 1744 ओलपाड में, कामराज में 2874, पलसाणा में 1885, बारडोली में 2270, महुवा में 598, मांडवी में 599, मांगरोण में 1199 और उमरपाड़ा में 87 पॉजिटिव मामले दर्ज हुए हैं. Corona terror increased Surat rural

मंगलवार को 24 कोरोना संक्रमित कोरोना को मात देने में कामयाब हुए. जिसके बाद सूरत ग्रामीण क्षेत्रों से अब तक 13,010 मरीज कोरोना मुक्त होकर घर लौट चुके हैं.

जबकि अलग-अलग जिला में 685 सकारात्मक रोगियों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. Corona terror increased Surat rural

लॉकडाउन के डर से प्रवासी मजदूरों का पलायन

सूरत में कोरोना के दैनिक मामलों में दर्ज की जा रही वृद्धि के बाद ऐसी अफवाह उड़ रही थी कि सूरत में एक बार फिर से लॉकडाउन लग सकता है. Corona terror increased Surat rural

इस अफवाह की वजह से प्रवासी मजदूरों में खौफ का माहौल पैदा हो गया है. जिसके बाद मजदूर सूरत से पलायन कर रहे हैं.

मिल रही जानकारी के अनुसार सूरत से उत्तर प्रदेश और बिहार जाने के लिए प्रतिदिन औसतन 15 से अधिक बसें चलती हैं. Corona terror increased Surat rural

सोमवार को 1,500 से अधिक मजदूरों को लेकर 14 बसें सूरत से उत्तर प्रदेश-बिहार के लिए रवाना हुईं है. निजी बस संचालक श्रमिकों से 800 रुपये के बदले 1,500 रुपया किराया वसूल रहे हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात विधानसभा में कोरोना विस्फोट, बजट सत्र के दौरान 9 विधायक संक्रमित