Gujarat Exclusive > देश-विदेश > देश में 50 हजार से ज्यादा दर्ज हुए कोरोना के नए मामले, 72 हजार स्वस्थ

देश में 50 हजार से ज्यादा दर्ज हुए कोरोना के नए मामले, 72 हजार स्वस्थ

0
385
  • देश में कोरोना के नए मामलों में गिरावट का सिलसिला जारी
  • बीते 24 घंटों में 50 हजार से ज्यादा दर्ज हुए नए मामले
  • 72 हजार से ज्यादा लोग कोरोना को मात देने में हुए कामयाब
  • देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 77 लाख के पार

देश में बढ़ते कोरोना कहर के बीच पिछले कुछ दिनों से लगातार अच्छी खबर सामने आ रही है. देश में जहां बीते महीने एक लाख के करीब नए मामले एक दिन में दर्ज हो रहे थे.

वहीं अक्टूबर महीने में कोरोना संक्रमण के रफ्तार में कमी दर्ज की जा रही है. आज एक दिन में देश में 50 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए.

वहीं इस दौरान 600 से ज्यादा लोगों की मौत भी दर्ज की गई.

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 77 लाख के पार

आज दर्ज होने वाले नए मामलों के बाद देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 77 लाख 61 हजार के पार हो गई. वहीं कोरोना की वजह से देश में अबतक 1 लाख 17 हजार से ज्यादा लोगों की मौत दर्ज की गई है.

लेकिन इस बीच राहत की खबर यह सामने आ रही है कि बीते 24 घंटों में 73 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज कोरोना को मात देने में कामयाब हुए.

भारत में हर दिन नए मामलों की संख्या में दर्ज होने वाली कमी की वजह से एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 6 लाख 95 हजार के करीब पहुंच गई है.

सितंबर का महीना बेहद बुरा

देश में कोरोना वायरस का कहर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. बढ़ते कोरोना कहर के बीच जो राहत की खबर सामने आ रही है वह यह है कि भारत में रिकवरी रेट में लगातार वृद्धि दर्ज की जा रही है.

भारत में जहां एक तरफ पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा नए कोरोना के मामले दर्ज हो रहे हैं. वहीं रिकवरी रेट में भी भारत अव्वल नंबर पर है.

सर्दी के मौसम में बढ़ सकता है कोरोना का कहर

देश में वैसे तो कोरोना के नए मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. लेकिन इस बीच विशेषज्ञों ने चेताया है कि त्योहारों में भीड़ से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है.

इसीलिए बीते दिनों पीएम मोदी देश के नाम संबोधन में लोगों से अपील किया कि तालाबंदी खत्म हो गई है लेकिन कोरोना नहीं इसलिए अगर सावधानी नहीं बरती गई तो फिर इसका भयंकर परिणाम भुगतना पड़ सकता है.

वहीं एक और रिपोर्ट सामने आई है कि ठंडी के मौसम में कोरोना का कहर बढ़ सकता है और खासतौर से दमा की बीमारी से पीड़ित लोगों को अपना शिकार बना सकता है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पत्रकारों के खिलाफ लगे मुकदमें वापस लेने की पीएम मोदी से मांग