Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत में नवंबर तक मिल सकती है रूसी कोरोना वैक्सीन की 10 करोड़ डोज

भारत में नवंबर तक मिल सकती है रूसी कोरोना वैक्सीन की 10 करोड़ डोज

0
590

भारत में बेहद तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है. खबर है कि रूस में कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक V बनाने वाली सरकारी कंपनी RDIF ने भारतीय फार्मास्यूटिकल कंपनी डॉक्टर रेड्डीज के साथ 10 करोड़ वैक्सीन (Corona Vaccine) के डोज तैयार करने के लिए करार किया है.
इस करार के मुताबिक नवंबर तक भारत में रूसी कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की 10 करोड़ डोज उपलब्ध हो सकती हैं.

खबर के अनुसार RDIF ने रूस के स्पुतनिक वी वैक्सीन (Corona Vaccine) के भारत में क्लिनिकल ट्रायल और वितरण के लिए Dr. Reddy’s लेबारेटरीज से समझौता किया है. समझौते के अनुसार रूसी कंपनी भारत में Dr. Reddy’s को 10 करोड़ टीके (Corona Vaccine) की आपूर्ति करेगी.

आरडीआईएफ के सीईओ ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा, ”रूस की आरडीआईएफ भारत में स्पूतनिक-5 टीके (Corona Vaccine) के क्लीनिकल परीक्षण और वितरण के लिये डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज के साथ मिलकर काम करेगी.”

उन्होंने कहा, ”स्पूतनिक-5 टीके के क्लीनिकल परीक्षण के लिये सभी आवश्यक शर्तें पूरी हों यह सुनिश्चित करने के लिए भारतीय नियामकों के साथ बातचीत कर रहे हैं.”

रेड्डीज के शेयर में भारी उछाल

इस खबर के आने के बाद बीएसई पर डॉ. रेड्डीज का शेयर 181 रुपये की मजबूती के साथ 4624.45 पर पहुंच गया.

RDIF के सीईओ किरिल डिमिट्रिव ने एक बयान में बताया कि ट्रायल सफल रहा तो यह टीका (Corona Vaccine) नवंबर तक भारत में उपलब्ध हो जाएगा. उन्होंने कहा कि डॉ. रेड्डीज की रूस में करीब 25 साल से कारोबारी मौजूदगी है और वह भारत की प्रमुख कंपनी है.

यह भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप का दावा, अगले चार हफ्ते में आ जाएगी कोरोना की वैक्सीन

उन्होंने दावा किया कि ह्यूमन एडीनोवायरस ड्यूल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित रूसी टीका (Corona Vaccine) भारत में कोविड-19 से सुरक्षित लड़ाई में मदद करेगा. उन्होंने कहा कि ह्यूमन एडीनोवायरस ड्यूल वेक्टर प्लेटफॉर्म का करीब रूस में पिछले एक दशक में करीब 250 क्लीनिकल ट्रायल किया गया है और इसका कोई भी संभावित नेगेटिव नतीजा नहीं देखा गया है.

ट्रंप ने भी जताई उम्मीद

उधर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) ने कहा है कि जल्दी ही कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) उपलब्ध होने जा रही है. टाउन हॉल में आयोजित एक ईवेंट में राष्ट्रपति ट्रंप ने एबीसी न्यूज के हवाले से कहा कि चार सप्ताह के अंदर वैक्सीन (Corona Vaccine) का शॉट तैयार कर लिया जाएगा.

ट्रंप ने कहा कि पिछले प्रशासन को FDA (फूड ड्रग एंड एडमिनिस्ट्रेशन) और तमाम तरह के अप्रूवल की वजह से वैक्सीन (Corona Vaccine) हासिल करने में सालों लग गए होंगे. लेकिन हम इसे पाने में सिर्फ हफ्तों दूर हैं. उन्होंने कहा कि अमेरिका तीन से चार हफ्तों में वैक्सीन (Corona Vaccine) बना लेगा.

ऑक्सफोर्ट की वैक्सीन को मिली इजाजत

उधर भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को ऑक्सफोर्ड के कोरोना वायरस वैक्सीन (Corona Vaccine) का क्लीनिकल ट्रायल फिर से शुरू करने की अनुमति दे दी है. दरअसल सीरम इंस्टीट्यूट भारत में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन (Corona Vaccine) को ब्रिटेन की एस्ट्रेजेनिका के साथ तैयार कर रही है.

भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) डॉ.वीजी सोमानी ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को इसकी अनुमति दी.  DGCI ने दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के लिए किसी भी उम्मीदवार को चुनने को रोकने वाले अपने पहले के आदेश को वापस ले लिया है.
हालांकि DGCI ने इसके लिए जांच के दौरान अतिरिक्त ध्यान देने सूचनाओं को साझा करने समेत अन्य कई शर्ते रखी हैं. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से DGCI ने विपरित परिस्थतियों से निपटने में नियम के अनुसार तय इलाज की भी जानकारी जमा करने को कहा है.
मालूम हो कि एक वोलंटियर के बीमार होने के बाद इस वैक्सीन का ट्रायल रोक दिया गया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें