Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना वायरस से लड़ने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने जारी किया फंड, भारत में दिखे नए मामले

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने जारी किया फंड, भारत में दिखे नए मामले

0
398

कोरोना वायरस का कहर अब पूरी दुनिया में फैलता जा रहा है. दुनिया के कई देश इसकी चपेट में आ चुके हैं. चीन के अलावा अब दूसरे देशों से भी इस वायरस से मरने वाले लोगों की खबर सामने आ रही हैं. इससे निजात पाने के लिए लगातार विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) प्रयासरत है. इसी बीच संयुक्त राष्ट्र (UN) की सेंट्रल इमेरजेंसी रेसपॉन्स फंड (CERF) ने सोमवार को कोरोना वायरस के राहत कोष के लिए 15 मिलियन अमेरिकी डॉलर के फंड की घोषणा की है.

WHO द्वारा विश्व में फैले कोरोना वायरस को लेकर ‘Very High’ घोषित करने के बाद UN ने इस फंड की घोषणा की है. WHO ने आशंका जताई है कि अगर संक्रमण फैला तो कोरोना वायरस और भी फैल सकता है. इटली, ईरान और कोरिया में आए हालिया मामले ने चिंता की स्थिति पैदा कर दी है.

दिल्ली में कोरोना के पहले मामले की पुष्टि

उधर भारत सरकार ने कोरोना वायरस के दो नए मामलों की जानकारी दी है. दिल्ली और तेलंगाना में एक-एक मामले की पुष्टि हुई है. जानकारी के अनुसार दोनों की हालत स्थिर है और उनपर निगरानी रखी जा रही है. देश में कुल मामलों की संख्या 5 हो गई है. समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार दिल्ली के आरएमएल अस्पताल में भर्ती मरीज हाल ही में इटली से लौटा था. वहीं, तेलंगाना का मरीज हाल ही में दुबई से लौटा था. इससे पहले केरल में तीन मामलों की पुष्टि हुई थी. तीनों चीन से लौटे थे. हालांकि, तीनों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है.

इटली में 34 की मौत

कोरोना वायरस की वजह से यूरोप में सबसे ज्यादा मामला इटली में ही सामने आया है. इटली में इससे 34 लोगों की मौत हो गई है और 1,694 मामले सामने आए हैं. वहीं आइसलैंड ने कोरोना वायरस का पहले तीन मामलों की जानकारी दी है. अमेरिका ने कोरोना वायरस से मौत की दूसरी जानकारी दी. रविवार को उसने और ऑस्ट्रेलिया ने पहली मौत की जानकारी दी थी. अभी तक यहां 77 मामलों की पुष्टि हुई है. मिस्र ने सोमवार को कोरोना वायरस के दूसरे मामले की जानकारी दी. इससे पहले 14 फरवरी को उसने पहले मामले की जानकारी दी थी.

60 से अधिक देशों में फैला वायरस

दिसंबर में चीन के वुहान शहर में इसका पहला मामला सामने आया था. इसके बाद से यह 60 से अधिक देशों में फैल गया है. पूरे विश्व में इससे 3,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. अकेले चीन में मरने वालों की संख्या 2,912 हो गई है. वहीं, 80,026 मरीजों की संख्या हो गई है. चीन के बाद दक्षिण कोरिया में सबसे ज्यादा प्रकोप देखने को मिल गया है.