Gujarat Exclusive > देश-विदेश > इटली में कोरोना का कहर, एक फुटबॉल मैच को माना जा रहा है जिम्मेदार

इटली में कोरोना का कहर, एक फुटबॉल मैच को माना जा रहा है जिम्मेदार

0
710

पूरे इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप है. यहां 86,000 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. वहीं 9000 से ज्यादा लोग इस खतरनाक वायरस की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं. इटली में कोरोना वायरस के इस रूप को लेकर तरह-तरह के कारण गिनाए जा रहे हैं. इसी बीच एक दावा ये भी किया जा रहा है कि इटली की फैशन इंडस्ट्री में चीन के वुहान शहर के हजारों कामगारों की वजह से वहां इतनी बुरी तरह कोरोना फैला जिसने हजारों जिंदगियां निगल लीं.

अब एक नया दावा सामने आ रहा है जो पूरी दुनिय को दहशत और हैरानी में डाल दिया है. दावा है कि एक महीने पहले इटली के मिलान शहर में चैंपियंस लीग में खेला गया एक मैच इटली के लिए बायोलॉजिकल बम यानी जैविक बम बन गया. अमेरिका के न्यूयॉर्क टाइम्स ने रेस्पायरेटरी एक्सपर्ट डॉ. फ्रांसिस्को फोके के हवाले से एक रिपोर्ट में दावा किया है.

सैन सीरो स्टेडियम में पहुंचे थे 40,000 दर्शक

19 फरवरी को मिलान शहर में फुटबॉल का चैंपियंस लीग हुआ था. इटालियन क्लब अटलांटा और स्पेनिश क्लब वेलेंसिया के बीच मैच खेला गया था. मिलान के सैन सीरो स्टेडियम में मैच देखने करीब 40,000 दर्शक जुटे थे. ये सभी दर्शक इटली समेत यूरोप के अलग अलग देशों से मिलान के इस स्टेडियम में मुकाबला देखने पहुंचे थे. स्पेन से भी काफी संख्या में दर्शक आए थे और इस समय स्पेन का हाल किसी से छुपा नहीं है. माना जा रहा है कि उस मैच के बाद इटली में कोरोना का विस्फोटक रूप देखने को मिला.

मैच के बाद सामने आया था पहला मामला

इस मैच के दो दिन बाद ही इटली में कोरोना से मौत का पहला मामला सामने आया. इसके बाद वह सिलसिला इतनी तेजी से आगे बढ़ा कि इटली में मौत के आंकड़े 9000 से ऊपर जा चुके हैं और कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 86 हजार से भी ज्यादा हो चुकी है. इटली में सीरी-ए लीग के फुटबॉल मैचों सहित कई टूर्नामेंट रद्द कर दिए गए थए लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी.

दरअसल, ये मैच पहले इटली के बर्गामो शहर में होना था लेकिन किसी वजह से नहीं हुआ. फिर इसका आयोजन मिलान शहर में हुआ. जिसकी वजह से बर्गामो के हजारों दर्शक यहां मैच देखने पहुंचे. लेकिन जब ये फिर वापस बर्गामो पहुंचे कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके थे जिसकी वजह से बर्गामो शहर कब्रिस्तान में तब्दील हो चुका है. अकेले बर्गामो शहर में ही अब तक कोरोना के करीब 10 हजार मामले सामने आ चुके हैं जिनमें सैकड़ों मरीज मारे गए हैं और हजारों मरीज जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं. बर्गामो के मेयर जॉर्जियो ने भी इस बात की पुष्टि करते हुए कहा था कि मैच की वजह से यहां कोरोना वायरस फैला.

चीन के रिकॉर्ड को गुजरात ने किया धराशायी, 6 दिनों में 2200 बेड का कोविड हॉस्पिटल तैयार