Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत में कोरोना के 54 फीसदी संक्रमितों की उम्र 18 से 44 साल के बीच

भारत में कोरोना के 54 फीसदी संक्रमितों की उम्र 18 से 44 साल के बीच

0
519

अगर आप सोच रहे हैं कि कोरोना वायरस (Covid-19) से सबसे ज्यादा खतरा बड़ी उम्र या बुजुर्गों को है तो आप गलत अवधारण का शिकार हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय पहले से कहता रहा है कि हर उम्र के लोगों को कोरोना वायरस (Covid-19) से खतरा है और स्वास्थ्य मंत्रालय ने एकबार फिर उसने अपनी रिपोर्ट में साफ कर दिया है कि कोरोना किसी उम्र विशेष को ही नहीं अपना शिकार बनाता बल्कि यह सभी उम्र के लिए खतरनाक है.

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बुधवार को बताया है कि कोरोना वायरस (Covid-19) के 54 फीसदी मामले 18 वर्ष से 44 वर्ष की उम्र के लोगों के हैं.
हालांकि कोरोना वायरस (Covid-19) से होने वाली 51 फीसदी मौतें 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों में हुईं हैं.

यह भी पढ़ें: कोरोना का दर्ज हुआ फिर से रिकॉर्डतोड़ नया मामला, संक्रमितों की संख्या 37 लाख के पार

कोरोना वायरस (Covid-19) के आंकड़ों का विश्लेषण करते हुए मंत्रालय ने बताया है कि वायरस से होने वाली 36 फीसदी मौतें 45 वर्ष से 60 वर्ष की उम्र के लोगों में हुई हैं.

जान का खतरा बुजुर्गों में सर्वाधिक

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, वहीं 11 फीसदी मौतें 26 वर्ष से 44 वर्ष की उम्र के लोगों में, 1 फीसदी 18-25 वर्ष की उम्र के लोगों में और 1 फीसदी 17 साल से कम उम्र के लोगों में हुई हैं.
स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि 70 फीसदी से अधिक मौतें कॉम्बिडिटी के कारण हुई हैं.

कोरोना वायरस (Covid-19) के 26 फीसदी मामले 45 वर्ष से 60 वर्ष की उम्र के लोगों के हैं, 8 फीसदी मामले 17 वर्ष से कम उम्र के लोगों के हैं और 12 फीसदी मामले 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के हैं.

भारत में कोरोना संक्रमण का हाल

मालूम हो कि देश में कोरोना वायरस (Covid-19) के कुल मामले 37 लाख से अधिक हो चुके हैं.

बीते 24 घंटों में कोरोना के 78 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए हैं.

वहीं इस दौरान एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत दर्ज की गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटों में 78,357 नए मामले दर्ज किए गए. वहीं इस दौरान1,045 लोगों की जान चली गई.

इसके बाद देश में कुल कोरोना (Covid-19) संक्रमितों की संख्या बढ़कर 37 लाख 69 हजार के पार पहुंच गई.

वहीं इस वायरस की वजह से देश में अबतक 66 हजार 333 लोगों की मौत दर्ज की गई है.

आज दर्ज होने वाले रिकॉर्डतोड़ नए मामलों के बाद देश में एक्टिव मामलों की संख्या 8 लाख के करीब पहुंच गई है. वहीं अबतक पूरे देश में 29 लाख से ज्यादा लोग कोरोना (Covid-19) को मात देने में कामयाब हुए हैं.

इस बीच राहत की बात ये सामने आ रही है कि एक्टिव मामलों की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब तीन गुना से ज्यादा है.

रिकवरी रेट बढ़ी, मृत्यु दर गिरी

इसके साथ ही रिकवरी रेट 76.98% हो गया है. वहीं संक्रमण से मृत्यु दर में लगातार गिरावट हो रही है. भारत में संक्रमण से मृत्यु दर 1.75% है.

भारत में अन्य देशों की तुलना में सबसे कम कोविड केस फैटलिटी रेट्स (CFR) है.
वैश्विक सीएफआर दर अनुसार 3.3% है, वहीं भारत में 1.76% है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में प्रति मिलियन आबादी पर संक्रमण से मौत दुनिया में सबसे कम है.
कोरोना संक्रमण (Covid-19) से मौत में वैश्विक औसत प्रति दस लाख आबादी में 110 मौत है, जबकि भारत में प्रति दस लाख आबादी पर ये 48 मौत है.

वहीं अन्य देश जैसे यूके में 611, ब्राज़ील में 576, यूएस में 570, मेक्सिको में 505, कोलंबिया में 393, ईरान में 257, साउथ अफ्रीका में 240 और रूस में 119 की मौत हुई प्रति दस लाख की आबादी में.
इन देशों के मुकाबले भारत में कोरोना संक्रमण से कम मौत हुई है प्रति दस लाख की आबादी में. भारत में पिछले 24 घंटे में 78357 नए मामले सामने आए, 1045 मरीजों की मौत हुई और 62026 मरीज ठीक हुए.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें