Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना: यूपी में फिर बढ़ा संक्रमण का आतंक, हरियाणा में 30 नवंबर तक स्कूल बंद

कोरोना: यूपी में फिर बढ़ा संक्रमण का आतंक, हरियाणा में 30 नवंबर तक स्कूल बंद

0
294

देश के कई हिस्सों में कोरोना संक्रमण (Covid-19) की दूसरी लहर का खतरा मंडरा रहा है. उत्तर प्रदेश और हरियाणा में कोरोना वायरस (Covid-19) का आतंक देखने को मिल रहा है. यूपी में नए मामलों ने योगी सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. वहीं तेजी से बढ़ते नए मामलों के कारण हरियाणा में 30 नवंबर तक के लिए सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं.

उत्तर प्रदेश में एकबार फिर कोरोना संक्रमण (Covid-19) की रफ्तार तेज होती जा रही है. यूपी में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना के 2858 नए मरीज मिले हैं. इसके अलावा 20 मरीजों की मौत हो गई है. प्रदेश में अब तक कुल 5,21,988 कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. इसके अलावा कोरोना से अब तक 7,500 मरीजों की जान चली गई है.

यह भी पढ़ें: SEBI की SC में अर्जी- सहारा 62,600 करोड़ रुपये चुकाए, वर्ना सुब्रत रॉय जेल में डाले जाएं

इसके अलावा एक्टिव केसों की संख्या 23,357 पहुंच गई है. बीते 24 घंटे में यूपी में जहां 2858 नए मरीज मिले तो वहीं, केवल 2220 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी गई. राजधानी लखनऊ में बीते 24 घंटे में 4 कोरोना (Covid-19) मरीजों की मौत हो गई है. लखनऊ में अब तक 954 कोरोना पॉजिटिव की मौत हो चुकी है.

बच्चों को ध्यान में रखकर फैसला

हरियाणा में 30 नवंबर तक के लिए सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं. यह फैसला राज्य सरकार ने स्कूलों में बढ़ते कोरोना वायरस (Covid-19) के केस को लेकर लिया है. शिक्षा विभाग ने इस संदर्भ में निर्देश जारी किए हैं.

मालूम हो कि हरियाणा के स्कूलों में कोरोना (Covid-19) का विस्फोट देखने को मिला है. हरियाणा के रेवाड़ी जिले में कुल 12 सरकारी स्कूलों के 72 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गये हैं. वहीं जींद में के स्कूलों में 11 बच्चों समेत 8 टीचर भी कोरोना की चपेट में आ गये हैं. हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है.

राजस्थान में 21 नवंबर से धारा 144

उधर राजस्थान की राज्य सरकार ने सूबे के सभी जिलाधिकारियों को 21 नवंबर से धारा-144 लगाने की सलाह दी है. गृह विभाग के ग्रुप-9 ने सभी जिलाधिकारियों को परामर्श जारी कर दिया है. सूबे में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें