Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > कोरोना की एक स्वदेशी वैक्सीन को मिली तीसरे चरण के ट्रायल की मंजूरी

कोरोना की एक स्वदेशी वैक्सीन को मिली तीसरे चरण के ट्रायल की मंजूरी

0
275

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण की गति धीमी पड़ रही है लेकिन इसका प्रकोप अभी खत्म नहीं होने वाला. ऐसे में कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) ही इस महामारी का सबसे कारगर उपाय साबित होने वाला है. इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में बन रही कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) को लेकर अहम जानकारी साझा दी.

आईसीएमआर के डीजी बलराम भार्गव ने देश में वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के ट्रायल के  बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा कि देश में तीन वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की ट्रायल चल रही है. इनमें से कोवाक्सिन को फेज-3 ट्रायल की मंजूरी मिल गई है जबकि सीरम फेज-2 ट्रायल पूरा करने की कगार पर है. कैडिला और एक अन्य वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) का ट्रायल दूसरे चरण में है.

यह भी पढ़ें: बिहार के मुंगेर जिले में मूर्ति विसर्जन के दौरान फायरिंग, एक व्यक्ति की मौत

देश में गिर रहा संक्रमण का ग्राफ

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 36 हजार 469 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 488 लोगों की मौत हो गई. बता दें कि जुलाई के बाद देश में पहली बार एक दिन में इतने कम मामले सामने आए हैं. 18 जुलाई को देश में 34 हजार 884 मामले सामने आए थे. देश में कोरोना वायरस की मृत्यु दर लगातार घट रही है और अब मृत्यु दर 1.5% हो गई है. वहीं रिकवरी दर बढ़कर 90.62 फीसदी हो गई है. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने इसकी जानकारी दी।

पांच राज्य बने चिंता का सबब

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि केरल, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली में त्योहारों की वजह से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं. हेल्थ सेक्रेटरी राजेश भूषण ने बताया कि पिछले 24 घंटों में कोरोना के 49.4 प्रतिशत मामले अकेले केरल, वेस्ट बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली से सामने आए हैं. फेस्टिवल सीजन भी इसका बड़ा कारण हो सकता है. हेल्थ सेक्रेटरी ने कहा, यह बेहद चिंता का विषय है और हम इन राज्यों की सरकारों से लगातार बात कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि कोविड-19 के कुल एक्टिव केस के 78 प्रतिशत तो देश के 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ही हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अमेरिकी विदेश मंत्री ने किया गलवान की घटना का जिक्र, कहा- हम हर वक्त भारत के साथ