Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > डॉ. फाउची का ऐलान, 2020 के अंत तक अमेरिका को मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन

डॉ. फाउची का ऐलान, 2020 के अंत तक अमेरिका को मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन

0
784

पूरी दुनिया को जिस कोरोना वैक्सीन का इंतजार है, वह इंतजार जल्दी ही खत्म होने जा रहा है. इसकी शुरुआत अमेरिका से हो सकती है. अमेरिका से कोरोना वैक्सीन को लेकर एक खुशखबरी सामने आई है. अब अमरीका के ही संक्रामक रोगों के शीर्ष विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने अनुमान लगाया है कि अमरीका को इस साल के अंत तक कोरोना वायरस की वैक्सीन मिल जाएगी.

इससे पहले कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर बुधवार को अमेरिका से एक ख़ुशख़बरी आई थी. अमरीकी फ़ार्मास्युटिकल कंपनी मोडर्ना की वैक्सीन के परीक्षण के दौरान सकारात्मक परिणाम मिले थे. बुधवार को ही अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया था कि ‘वैक्सीन को लेकर बड़ी ख़बर है.’

डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने अनुमान लगाया है कि अमरीका को इस साल के अंत तक कोरोना वायरस की वैक्सीन मिल जाएगी. डॉक्टर एंथनी फ़ाउची ने रॉयटर्स न्यूज़ एजेंसी से कहा, “जिस समय का अनुमान लगाया गया है उसको लेकर मैं ख़ुश हूं.” उन्होंने कहा कि वो इस विचार से ‘चिंतित’ नहीं हैं कि चीन वैक्सीन बनाने की दिशा में अमेरिका से आगे निकल जाएगा.

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि हर कोई एक ही ट्रैक पर चल रहा है. वे इसे हमसे पहले प्राप्त नहीं करने जा रहे हैं. जो बिलकुल पक्का है.” बाकी वैज्ञानिकों की तरह उनका भी कहना है कि इससे जुड़ा यह सवाल अभी भी बना हुआ है कि एक वैक्सीन के ज़रिए शरीर कब तक बीमारी से बचा रहेगा.

WHO ने दी है चेतावनी

वहीं इन सबके बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रमुख की नई चेतावनी निश्चित रूप से डराने वाली है. WHO प्रमुख टेड्रोस गेब्रेयेसस का कहना है कि महामारी अभी बद से और बदतर होने वाली है. WHO ने चेतावनी देते हुए कहा कि स्थितियां जल्द सामान्य होने वाली नहीं हैं क्योंकि कुछ देश कोरोना वायरस महामारी को रोकने की अपनी जिम्मेदारी सही ढंग से नही निभा रहे हैं. गेब्रेयेसस ने कहा कि अगर स्वास्थ्य दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया जाता है तो ये संकट और बदतर होते जाएगा.

एक करोड़ 34 लाख लोग संक्रमित

मालूम हो कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के कारण त्राहिमाम की स्थिति है. दुनिया में संक्रमितों की आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है और अब यह संख्या एक करोड़ 34 लाख को पार कर चुकी है. वहीं मरने वालों की संख्या भी छह लाख के करीब पहुंच गई है. भारत में आज 33 हजार के करीब नए मामले दर्ज किए गए जबकि मरने वालों की संख्या में भी इजाफा देखा गया. ऐसे में वैक्सीन की खबर से लोगों को राहत मिल सकती है.

पटरी पर लौट रही चीन की अर्थव्यवस्था, 3.2 फीसदी की दर से बढ़ी