Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव, कल होंगे डिस्चार्ज

गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव, कल होंगे डिस्चार्ज

0
473

गुजरात भाजपा के अध्यक्ष सीआर पाटिल (CR Patil) की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है. सीआर पाटिल (CR Patil) ने मंगलवार को इसकी जानकारी ट्विटर के जरिये दी. उन्होंने ट्वीट किया कि उनकी ताजा आरटी-पीसीआर कोरोना टेस्ट निगेटिव आई है. मालूम हो कि यह उनका तीसरा RT-PCR टेस्ट था. पाटिल ने कहा कि उन्हें बुधवार को अपोलो अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी.

सीआर पाटिल (CR Patil) ने पार्टी कार्यकर्ताओं और अपने शुभचिंतकों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने उनके ठीक होने की प्रार्थना की.

 

सीआर पाटिल (CR Patil) के कोरोना संक्रमित पाए जाने के दौरान बीजेपी के प्रवक्ता भरत पांड्या भी महामारी की चपेट में आ गए थे. उन्हें यूएन मेहता अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है जहां उनका इलाज चल रहा था.

यह भी पढ़ें: Toyota भारत में नहीं बढ़ाएगी अपना व्यापार, कहा- सरकार लेती है ज्यादा टैक्स

पांड्या ने खुद के ठीक होने के लिए स्टाफ, डॉक्टरों और अपने शुभचिंतकों का भी शुक्रिया अदा किया है.

सोमवार को पॉजिटिव आई थी पाटिल की रिपोर्ट

इससे पहले सोमवार को सीआर पाटिल (CR Patil) की दूसरी कोरोना रिपोर्ट आई थी जिसमें वह संक्रमित पाए गए थे. उनका शहर के अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है.

शुरुआत में जब पाटिल (CR Patil) की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाए आई थी तब भाजपा अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा था कि उनका एंटीजन टेस्ट निगेटिव आया है और वह कोरोना से संक्रमित नहीं हैं.

फिर भी वह अस्पताल में भर्ती हुए और आखिरकार उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. दिलचस्प बात यह है कि उनके बेटे जिग्नेश पाटिल ने ट्वीट कर बताया था कि उनके पिता कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं, लेकिन बाद में उन्होंने ट्वीट को डिलीट कर दिया था.

मीडिया रिपोर्टों में डॉक्टरों के हवाले से कहा गया है कि दूसरी बार उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बावजूद उनके शरीर में वायरस का प्रकोप कम हो गया था.

कोरोना टेस्ट से पहले की थी रैली

सीआर पाटिल (CR Patil) ने कोरोना पॉजिटिव होने से पहले सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात में रैलियों की थीं और पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी. मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसी खबरें आई थीं कि उनकी बैठकों के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल नहीं रखा गया था. ऐसे में उनकी बैठकों पर भी सवाल उठाए जा रहे थे.

इससे पहले सूरत में एक स्वागत रैली में भी भारी भीड़ देखी गई थी जिसके परिणामस्वरूप पाटिल (CR Patil) को कार्यक्रम रद्द करना पड़ा था. वहां भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा था.

दिलचस्प बात यह है कि पाटिल की रैलियों में शामिल होने वाले कई अन्य नेता और पार्टी कार्यकर्ता भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें