Gujarat Exclusive > देश-विदेश > केंद्र क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगाने के लिए लाएगी विधेयक, घोषणा के बाद क्रिप्टो बाजार में भारी गिरावट

केंद्र क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगाने के लिए लाएगी विधेयक, घोषणा के बाद क्रिप्टो बाजार में भारी गिरावट

0
43

नई दिल्ली: भारत में “क्रिप्टोकरेंसी और इसके उपयोग के तहत प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने” के लिए भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाने की सरकार ने तैयारी कर ली है. शीतकालीन सत्र में सरकार प्रतिबंध को लेकर विधेयक पेश करेगी. इस घोषणा के बाद क्रिप्टो बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई. 23 नवंबर को रात 11:15 बजे तक, सभी प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी में लगभग 15% या उससे अधिक की गिरावट आई थी. लेकिन उसके बाद अब धीरे-धीरे बाजार में सुधार आ रहा है.

23 नवंबर को रात 11:15 बजे तक, सभी प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी में लगभग 15% या उससे अधिक की गिरावट आई थी. बिटकॉइन 17% से अधिक गिर गया था. इसके अलावा एथेरियम लगभग 15% और टीथर लगभग 18% गिर गया. खबर के बाद सभी प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी में भारी गिरावट की वजह से निवेशकों को बड़ा नुकसान हुआ है. लेकिन अब धीरे-धीरे मार्केट में सुधार दर्ज की जा रही है.

आधिकारिक संसदीय दस्तावेज के अनुसार, क्रिप्टोक्यूरेंसी और विनियमन पर आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक 2021, अगले शीतकालीन सत्र में पेश किया जाना है. यह सत्र 29 नवंबर से शुरू हो रहा है. बिल में कुछ अपवादों को छोड़कर भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा. उम्मीद है कि शीतकालीन सत्र के दौरान इसे अंतिम विजन के साथ पारित करने के लिए पेश किया जाएगा.

सरकार का कहना है कि भारतीय रिजर्व बैंक अपनी खुद की डिजिटल करेंसी जारी करेगा. इसका उद्देश्य “भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी की जाने वाली अधिकृत डिजिटल मुद्रा के गठन की सुविधा प्रदान करना है.” निवेशकों के पैसे की सुरक्षा, निवेश की संभावनाओं और जोखिमों के बारे में मीडिया में भ्रामक विज्ञापन लंबे समय से चिंता का विषय रहे हैं. खबर सामने आने के बाद अब सभी की नजर इस बात पर टिकी हुई है कि सरकार क्या फैसला करती है. क्रिप्टोकरेंसी को पूरी तरह से प्रतिबंधित करेगी या फिर कुछ शर्तों के साथ इसकी ट्रेडिंग की इजाजत देगी?

किसान नेता राकेश टिकैत का ऐलान, शीतकालीन सत्र के पहले दिन 60 ट्रैक्टर ले करेंगे संसद कूच