Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दाऊद इब्राहिम के भतीजे सिराज साबिर कासकर की कोरोना से मौत

दाऊद इब्राहिम के भतीजे सिराज साबिर कासकर की कोरोना से मौत

0
244

कोरोना महामारी ने कईयों की जिंदगी तबाह कर दी है. इसी बीच खबर है कि अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के भतीजे की बुधवार सुबह कराची के एक निजी अस्पताल में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण मौत हो गई.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, दाऊद (Dawood Ibrahim) के दिवंगत बड़े भाई साबिर कासकर के बेटे सिराज साबिर कासकर (Siraj Sabir Kaskar) बीते हफ्ते से ही जिंदगी के लिए संघर्ष कर रहा था जिसकी मौत हो गई है.

यह भी पढ़ें: आर्या राजेंद्रन बनेंगीं देश की सबसे युवा मेयर, 21 साल की उम्र में संभालेंगी पद

मीडिया खबरों के मुताबिक, 38 वर्षीय सिराज शादीशुदा था और वह कराची के अत्यधिक संरक्षित क्लिफ्टन इलाके में दाऊद के बंगले से सटे एक घर में रहता था. सिराज की मौत की खबर बुधवार को मुंबई और दुबई के कुछ करीबी रिश्तेदारों को भी दी गई जबकि दाऊद के अधिकांश दुबई स्थित प्रतिष्ठान श्रद्धांजलि के तौर पर बंद रहे.

जनाजे में शामिल हुआ दाऊद!

सूत्रों के मुताबिक, केवल भारत के मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद (Dawood Ibrahim), गैंगस्टर अनीस इब्राहिम और दाऊद के सुरक्षा गार्ड शव को अब्दुल्ला शाह गाजी दरगाह के पास कब्रिस्तान ले गए, जहां दाऊद के भाई-बहन दफन को किया गया है.

मालूम हो कि अगस्त महीने में पाकिस्तान ने पहली बार अपनी भूमि पर भारत में वांछित अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) की मौजूद होने की बात स्वीकार की थी. दाऊद कई गैरकानूनी कारोबार में शामिल है और 1993 मुंबई बम धमाके के बाद वह भारत के लिए सबसे बड़ा वांछित आतंकवादी है. वर्ष 2003 में अमेरिका ने दाऊद (Dawood Ibrahim) को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया था.

पिता की हुई थी हत्या

पहले मुंबई में साबिर कासकर ही दाऊद के गिरोह का नेतृत्व कर रहा था लेकिन पठान गिरोह के इशारे पर 12 फरवरी 1981 को गैंगस्टर मान्या सुर्वे ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस हत्याकांड के बाद मुंबई के अंडरवर्ल्ड में वर्चस्व की लड़ाई शुरू हो गई थी. इसी गैंगवार के बाद दाऊद इब्राहिम मुंबई अंडरवर्ल्ड का डॉन बन गया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें