Gujarat Exclusive > देश-विदेश > तालाबंदी से दिहाड़ी मजदूर परेशान, घर पहुंचने के लिए 5 दिनों से चला रहे हैं साइकिल

तालाबंदी से दिहाड़ी मजदूर परेशान, घर पहुंचने के लिए 5 दिनों से चला रहे हैं साइकिल

0
2189

कोरोना के कारण दुनियाभर के लोग परेशान हैं ,लेकिन इसकी सबसे अधिक मार गरीब और मजदूर वर्ग को झेलनी पड़ रही है जो अपने घर से दूर रहकर रोज दिहाड़ी कर कमाते हैं. इस बीच जब वे घर लौटना चाहते हैं तो देश में लॉकडाउन है और उनके लिए ले भी मुसीबत है.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन के बीच मध्य प्रदेश के नागपुर से प्रवासी मजदूर पैदल चलते हुए सतना जिले में अपने घरों की ओर जा रहे हैं. कुछ लोग साइकिल पर सवार होकर निकल पड़े हैं. एक साइकिल चालक का कहना है, “मैंने पांच दिन पहले नासिक से अपनी यात्रा शुरू की थी और मुझे अपने घर तक पहुंचने में छह और दिन लगेंगे.” एक महिला मजदूर ने एएनआई को बताया कि मेरे पति और मैंने कल अपने एक साल के बच्चे के साथ साइकिल से नागपुर से मध्य प्रदेश के सिवनी तक की यात्रा शुरू की. हम 14 अप्रैल को बसों के शुरू होने का इंतजार कर रहे थे, लेकिन जब वे शुरू नहीं हुईं, हमने साइकिल पर यात्रा करने का फैसला किया.

पूरे देश की बात करें तो भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार कम होती जा रही है, जो संकट के इस घड़ी में राहत की खबर है. पिछले 12 घंटे में कोरोना वायरस के 628 केस और 17 मौतें दर्ज की गई हैं, वहीं कल यानी गुरुवार को 22 मौतें हुई थीं. इस तरह से शुक्रवार को जारी नए आंकड़ों में गिरावट के रुझान देखने को मिल रहे हैं. आंकड़ों क मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 13387 हो गई है.

अहमदाबाद, सूरत के बाद गुजरात सरकार ने इस जिला में कर्फ्यू लगाने का किया ऐलान