Gujarat Exclusive > राजनीति > डीडीसी चुनाव में भाजपा के पूर्व मंत्री 11 मतों से हारे, निर्दलीय उम्मीदवार ने दी मात

डीडीसी चुनाव में भाजपा के पूर्व मंत्री 11 मतों से हारे, निर्दलीय उम्मीदवार ने दी मात

0
170

जम्मू-कश्मीर के जिला विकास परिषद (DDC) के चुनाव में यूं तो भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी लेकिन उसके एक पूर्व मंत्री को हार का सामना करना पड़ा. भाजपा के पूर्व मंत्री श्याम लाल चौधरी को जिला विकास परिषद (DDC) चुनाव में जम्मू की सुचेतगढ़ सीट से 11 मतों के मामूली अंतर से हार का सामना करना पड़ा है.

राज्य के निर्वाचन आयोग के आंकड़ों के अनुसार जम्मू जिले की सुचेतगढ़ सीट (DDC) पर श्याम लाल चौधरी को 12,958 वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी निर्दलीय उम्मीदवार तरनजीत सिंह 12,969 मतों के साथ विजयी रहे.

यह भी पढ़ें: कोटला स्टेडियम में जेटली की प्रतिमा का विरोध, बेदी ने डीडीसीए से दिया इस्तीफा

बता दें कि चौधरी पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर में भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं. वह 2014 और 2008 में सुचेतगढ़ विधानसभा चुनाव में अपनी जीत दर्ज करा चुके हैं. उन्हें आरएस पुरा की सीमा बेल्ट में एक शक्तिशाली नेता के तौर पर जाना जाता है.

भाजपा बनी सबसे बड़ी पार्टी

बुधवार को मतगणना (DDC) के दौरान फारुक अब्दुल्ला नीत सात दलों का गुपकर गठबंधन 280 में से 112 सीटों पर या तो जीत दर्ज कर चुका है या आगे चल रहा है. भाजपा 74 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. उसे पहली बार कश्मीर घाटी में तीन सीटों (DDC) पर जीत मिली है. जम्मू में भाजपा को 11 सीटों पर जीत मिली. निर्दलीय उम्मीदवारों को दो सीट पर जबकि एक सीट पर नेशनल कॉन्फ्रेंस को जीत हासिल हुई.

बता दें कि गुपकार गठबंधन में नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी समेत कुछ अन्य दल शामिल हैं. भाजपा ने 74 सीटें जीती (DDC) हैं. इस लिहाज से वह केंद्र शासित प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है. दूसरी ओर जहां नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) 67 सीटें जीतकर दूसरे स्थान पर रही, वहीं महबूबा मुफ्ती की पीडीपी 27 सीटें ही जीत पाई. यहां तक कि निर्दलियों को भी 49 सीटें मिली हैं. इसके अलावा कांग्रेस ने भी 26 सीटों पर कब्जा जमाया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें