Gujarat Exclusive > गुजरात > कोरोना संकट: देश में सबसे ज्यादा मृत्यु दर 4.1% के साथ अहमदाबाद पहले पायदान पर

कोरोना संकट: देश में सबसे ज्यादा मृत्यु दर 4.1% के साथ अहमदाबाद पहले पायदान पर

0
424
  • देश के 6 मुख्य शहरों में कोरोना से मरने वालों की संख्या में अहमदाबाद शीर्ष पर
  • मौत का शहर बनने की तैयारी में अहमदाबाद
  • मुंबई 3.9 प्रतिशत की मृत्यु दर के साथ दूसरे स्थान पर, छठे स्थान पर बेंगलुरु

अहमदाबाद: दिवाली के बाद गुजरात में सर्दियों के सीजन का आगमन हो गया है. कोरोना संकट से दो चार हो रहे गुजरात में दोहरे मौसम की वजह से कोरोना को लेकर लोगों में डर का माहौल पैदा हो गया है. Death City Ahmedabad

अहमदाबाद में हर दिन कोरोना के नए मामलों की बढ़ती संख्या की वजह से जिला प्रशासन की चिंता को बढ़ा दी है.

मार्च से लेकर जून के बीच कोरोना का जो आंतक अहमदाबाद में दिख रही थी वहीं स्थिति फिर से बनती दिख रही है.

अहमदाबाद में फिर बढ़ा कोरोना का कहर

कोरोना के शुरुआती दिनों में शहर की स्थिति बहुत काफी खराब थी. हर दिन नए मामलों में वृद्धि और अधिक मौतों के कारण, अहमदाबाद को “डेथ सिटी” के रूप में जाना जाने लगा था.

ऐसे में एक बार फिर अहमदाबाद में कोरोना से मौत ने सभी का ध्यान आकर्षित किया है. Death City Ahmedabad

मृत्यु दर के मामले में पहले पायदान पर अहमदाबाद  Death City Ahmedabad

कोरोना की वजह से देश के छह प्रमुख शहरों में मरने वालों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है. जिसमें 4.1 प्रतिशत मृत्यु दर के साथ अहमदाबाद पहले स्थान पर आ गया है.

मुंबई 3.9 प्रतिशत की मृत्यु दर के साथ दूसरे स्थान पर है. इसी तरह कोलकाता 2.5 प्रतिशत के साथ तीसरे, चेन्नई 1.8 प्रतिशत, दिल्ली 1.6 प्रतिशत के साथ बेंगलुरु 1.1 प्रतिशत की मृत्यु दर के साथ छठे स्थान पर है. Death City Ahmedabad

यह भी पढ़ें: गुजरात में कोरोना के नए मामलों के साथ मौत का आतंक बढ़ा, 24 घंटे में 17 लोगों की मृत्यु

अगर हम आंकड़ों पर नजर डालें तो अहमदाबाद शहर और जिले में अब तक कोरोना के कुल 47,309 मामले सामने आए हैं. जिसके सामने 1968 मरीजों की मौत हो चुकी है.

मुंबई में, कुल 2,75,714 मामलों में 10,675 मरीजों ने अपनी जान गंवाई. इसी तरह कोलकाता में, 99,909 मामलों में 2505 लोगों की मौत हो चुकी है. 3 अन्य शहरों में की भी स्थिति समान है.

अहमदाबाद में मृत्यु दर 4.1 प्रतिशत है, जो वास्तव में चिंता का विषय है. पिछले एक सप्ताह से अहमदाबाद में कोरोना के नए मामलों में दिन प्रतिदिन वृद्धि दर्ज की जा रही है.

इतना ही नहीं नए मामलों में दर्ज की जाने वाली वृद्धि की वजह से कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ गई है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि स्थिति में सुधार कब होगा?  Death City Ahmedabad

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद में 7 दिसंबर तक जारी रहेगा नाइट कर्फ्यू, इन्हें मिलेगी छूट