Gujarat Exclusive > देश-विदेश > रक्षा मंत्री राजनाथ का बड़ा ऐलान, रडार-एयरक्राफ्ट जैसे 101 उपकरणों को अब नहीं खरीदेगा भारत

रक्षा मंत्री राजनाथ का बड़ा ऐलान, रडार-एयरक्राफ्ट जैसे 101 उपकरणों को अब नहीं खरीदेगा भारत

0
601

चीन से जारी सीमा विवाद के बीच केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत बड़ा फैसला किया है.

उन्होंने इस सिलसिले में ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा कि अब भारत 101 रक्षा उपकरणों की लिस्ट तैयार कर इनके आयात पर प्रतिबंध लगाएगा.

रक्षा मंत्रालय के इस पहल से स्वदेशी रक्षा उत्पादन कंपनियों को बढ़ावा मिलेगा.

रक्षा मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी 

इतना ही नहीं उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि ऐसे उपकरणों को चिन्हित करने के साथ ही साथ 2020 से लेकर 2024 तक धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाएगा.

जिन उपकरणों को चिन्हित किया जा रहा है उसमें सिर्फ छोटे-मोटे रक्षा उपकरण नहीं बल्कि उच्च तकनीक वाले हथियार सिस्टम जैसे आर्टिलरी गन, असॉल्ट राइफलें, ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, रडार, तोप, असॉल्ट राइफल, परिवहन विमान जैसे सामान शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार ने कहा चीन ने की थी घुसपैठ, रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हुआ खुलासा

आत्मनिर्भर भारत को लेकर लिया गया फैसला

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले की जानकारी देते हुए एक नहीं बल्कि कई ट्वट करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने पांच आधार स्तंभों के हिसाब से आत्मनिर्भर भारत का आह्वान किया है, जिसमें अर्थव्यवस्था, इंफ्रास्ट्रक्टर, सिस्टम और मांग के आधार पर लोगों की संख्या है.

इसीलिए रक्षा मंत्रालय ने पीएम मोदी के अपील को सार्थक बनाने के मकसद को लेकर ये पहल कर रही है.

इस पहल से स्वदेशी रक्षा उपकरण बनने वाली कंपनियों को मिलेगा फायदा 

उन्होंने कहा रक्षा मंत्रालय ने यह लिस्ट सुरक्षाबलों और सार्वजनिक निजी उद्योग सहित सभी हितधारकों के साथ कई दौर के चर्चा के बाद तैयार की है.

इस दौरान भारतीय उद्योग की वर्तमान और भविष्य की क्षमताओं का भी आकलन किया गया.

राजनाथ सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि इस कदम से अगले 6-7 साल में घरेलू उद्योग को करीब 4 लाख करोड़ रुपए के ठेके मिलेंगे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

चीन घुसपैठ पर राहुल गांधी का हमला, कहा- प्रधानमंत्री झूठ क्यों बोल रहे हैं?