Gujarat Exclusive > राजनीति > दिल्ली विधानसभा चुनाव : बीजेपी के सोशल मीडिया किंग तजिंदर पाल सिंह बग्गा अपनी सीट पर पिछड़े

दिल्ली विधानसभा चुनाव : बीजेपी के सोशल मीडिया किंग तजिंदर पाल सिंह बग्गा अपनी सीट पर पिछड़े

0
271

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनावों के ​रुझान अब अमली जामा पहनने की ओर बढ़ रहे हैं. आम आदमी पार्टी जहां एक बड़ी बढ़त की ओर बढ़ रही है तो वहीं भारतीय जनता पार्टी के कई दिग्गज नेता पीछे चल रहे हैं. पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट के तहत आने वाली हरिनगर सीट पर सबकी नजर है. इस सीट से भाजपा उम्मीदवार त​​जिंदर पाल सिंह बग्गा शुरुआती रुझानों में बढ़त बनाए हुए थे लेकिन अभी पीछे चल रहे हैं. बग्गा सोशल मीडिया खासकर ट्विटर पर बहुत सक्रिय रहते हैं.

मालूम हो कि हाल ही में जब अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जेनएनयू गई थीं तो उन्होंने फिल्म छपाक के खिलाफ सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाया था. भाजपा ने विधानसभा में सिख और पंजाबी बाहुल क्षेत्र होने के चलते युवा उम्मीदवार तजिंदर पाल सिंह बग्गा को खड़ा किया है. चुनाव प्रचार के दौरान चुनाव आयोग बग्गा को उनके चुनाव प्रचार वीडियो गीत के लिए नोटिस जारी कर चुका है. सत्ता विरोधी लहर से बचने के लिए आम आदमी पार्टी ने इस सीट से अपना उम्मीदवार भी बदल ​दिया. आप ने कांग्रेस नेता रहीं राज कुमारी ढिल्लों और कांग्रेस ने सुरिंदर कुमार सेतिया को मैदान में उतारा है. ये सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती रही है. 1993 में ये को विधानसभा सीट को बनाया गया. तब से यहां लगातार चार बार भाजपा को जीत मिल चुकी है लेकिन 2013 के बाद से यह सीट पर भाजपा जीत हासिल नहीं कर सकी है.

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा पर आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और वकील प्रशांत भूषण को थप्पड़ मारने का आरोप भी है. भगत सिंह क्रांति सेना नाम के संगठन के संस्थापक सदस्य बग्गा ने 16 साल की उम्र में राजनीति में कदम रखा. भाजपा की युवा मोर्चा ईकाई से जुड़कर राजनीति करना शुरू की. बग्गा अपने बयानों के साथ साथ अरुंधति राय के पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में हंगामा करने और मणिशंकर अय्यर की टिप्पणी के विरोध में कांग्रेस कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करने जैसे चलते विवादों में भी रहे है.