Gujarat Exclusive > राजनीति > दिल्ली विधानसभा चुनाव: कड़े सुरक्षा के बीच सभी 70 विधानसभा सीटों पर मतदान शुरू

दिल्ली विधानसभा चुनाव: कड़े सुरक्षा के बीच सभी 70 विधानसभा सीटों पर मतदान शुरू

0
323

दिल्ली की सभी 70 सीटों के लिए आज सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू हो गई है. इस चुनावी मुकाबले में सत्ता में काबिज AAP, बीजेपी और कांग्रेस मुख्य रूप से मैदान में हैं. इस चुनाव में कुल 672 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. दिल्ली के 1,47,86,382 मतदाता आज तय करेंगे कि दिल्ली की सत्ता पर कौन सी पार्टी काबिज होगी. चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे. दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर केजरीवाल तक ने ट्वीटकर ज्यादा संख्या वोट करने की अपील की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के युवाओं से अपील की है कि वो बड़ी संख्या में मतदान करें. पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ” दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान का दिन है. सभी मतदाताओं से मेरी अपील है कि वे अधिक से अधिक संख्या में लोकतंत्र के इस महोत्सव में भाग लें और वोटिंग का नया रिकॉर्ड बनाएं.”

वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वालों से वोट डालने की अपील की है. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ” सभी महिलाओं से ख़ास अपील – जैसे आप घर की ज़िम्मेदारी उठाती हैं, वैसे ही मुल्क और दिल्ली की ज़िम्मेदारी भी आपके कंधों पर है. आप सभी महिलायें वोट डालने ज़रूर जायें और अपने घर के पुरुषों को भी ले जायें. पुरुषों से चर्चा ज़रूर करें कि किसे वोट देना सही रहेगा. “


राष्ट्रीय राजधानी में शांतिपूर्ण मतदान के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली पुलिस, होमगार्ड समेत अर्धसैनिक बल के 75 हजार से ज्यादा हथियारबंद जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात होंगे. इस दौरान बिना समय बर्बाद किए तालमेल बनाने का काम करेगा एक इकलौता कंट्रोल रूम. यह कंट्रोल रूम बनाया गया है राज्य चुनाव मुख्यालय (कश्मीरी गेट) परिसर में प्रथम मंजिल पर बनाया गया है. दिल्ली चुनाव के लिए ईवीएम, संवेदनशील बूथ और काउंटिंग सेंटर्स की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है. दिल्ली में कुल 2689 पोलिंग बूथ में से 545 संवेदनशील हैं. जबकि 21 काउंटिंग सेंटर को अतिरिक्त सुरक्षा दी गई है.

पिछला रिकॉर्ड

दिल्ली में पिछला विधानसभा चुनाव साल 2015 में हुआ था. उस चुनाव में AAP ने दिल्ली की 70 सीटों में से 67 सीटें जीते थीं. बाकी की 3 सीटें BJP के खाते में गई थीं. कांग्रेस पिछले साल दिल्ली में अपना खाता खोलने में भी कामयाब नहीं पाई थी.