Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली में इजरायली दूतावास के पास बम ब्लास्ट, घटनास्थल से 1.5 किमी दूर थे राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री

दिल्ली में इजरायली दूतावास के पास बम ब्लास्ट, घटनास्थल से 1.5 किमी दूर थे राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री

0
359

Delhi Bomb Blast: देश की राजधानी नई दिल्ली से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां इजरायली दूतावास के पास बम ब्लास्ट (Delhi Bomb Blast) हुआ है. इस धमाके में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं. घटनास्थल पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल पहुंची है.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक ब्लास्ट (Delhi Bomb Blast) से तीन कारों को नुकसान पहुंचा हैं. कार के शीशे टूट गए हैं. हालांकि घटना में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है. इससे पहले 2012 में भी इजरायली दूतावास के नजदीक धमाका हुआ था.

घटनास्थल से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर राजपथ पर ‘बीटिंग रिट्रीट’ कार्यक्रम चल रहा था. इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई केंद्रीय मंत्री मौजूद थे. ब्लास्ट के बाद पूरे इलाके में घेराबंदी कर दी गई है.

यह भी पढ़ें: इंदिरा गांधी की भूमिका में नजर आएंगीं कंगना रनौत, आपातकाल पर बन रही है फिल्म

ब्लास्ट (Delhi Bomb Blast) के बाद स्पेशल सेल की टीम मौके पर पहुंच गई है. इसके अलावा NIA की टीम भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है. दिल्ली पुलिस ने धमाके की पुष्टि की है. पुलिस का कहना है कि विस्फोट फुटपाथ के पास हुआ है. तीन कारों के शीशे टूट गए हैं.

दिल्ली पुलिस का बयान

दिल्ली पुलिस ने बम ब्लास्ट (Delhi Bomb Blast) की जानकारी दी है और बताया है कि इसमें किसी शरारती तत्वों का हाथ हो सकता है. दिल्ली पुलिस ने अपने बयान में कहा,

5 एपीजे अब्दुल कलाम रोड के नजदीक जिंदल हाउस के पास आईईडी रखा गया था. इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ और ना ही संपत्ति का नुकसान हुआ है. पास में खड़ी तीन गाड़ियों के शीशे टूटे हैं. शुरुआती तौर पर ऐसा लगता है कि इसमें किसी शरारती तत्वों का हाथ हो सकता है ताकि सनसनी पैदा की जा सके.

बता दें कि इजरायली दूतावास एपीजे अब्दुल कलाम रोड पर स्थित है. इजरायली दूतावास के 150 मीटर की दूरी पर गाड़ियां खड़ी थीं और यहीं पर धमाका (Delhi Bomb Blast) हुआ है. शाम के करीब 5 बजकर 5 मिनट पर संभवत: आईईडी ब्लास्ट हुआ है. शुरुआती जांच के मुताबिक, बोतल में बम छुपा कर रखने की आशंका है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें