Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली में फिर बढ़े कोरोना के मामले, सीएम केजरीवाल ने कहा, नियंत्रण में है स्थिति

दिल्ली में फिर बढ़े कोरोना के मामले, सीएम केजरीवाल ने कहा, नियंत्रण में है स्थिति

0
558

देश में लगातार कोरोना के नए मामले रिकॉर्ड बना रहे हैं. वहीं राजधानी दिल्ली (Delhi) में भी कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. दिल्ली (Delhi) में कोरोना के बढ़ते मामलों पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इससे घबराने की जरूरत नहीं और स्थिति नियंत्रण में है.

सीएम केजरीवाल ने कहा,

पिछले दिनों मैंने कई एक्सपर्ट से बात की, कुछ कहते हैं कि यह सेकंड वेव है, कुछ कहते हैं नहीं हैं. लेकिन मैं आपको एक ही चीज कहना चाहता हूं कि घबराने की कोई बात नहीं है स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है. मैं पिछले 4 से 5 महीने में जब से कोरोना फैला है तब से समय-समय पर आपके सामने आकर सारी स्थिति बताता हूं.

उन्होंने आगे बताया, ‘जून में हमने ही कहा था की स्थिति खराब हो रही है और 31 जुलाई तक 5.50 लाख मामले हो सकते हैं. लेकिन आज में आपको बता रहा हूं कि घबराने की बिल्कुल जरूरत नहीं है. कोरोना की वजह से मौत नहीं होनी चाहिए.  कुल 2914 मामले सामने आए और 13 लोगों की मौत हुई. हालांकि इतनी मौत भी नहीं होनी चाहिए. लेकिन दुनिया के हिसाब से यह बहुत कम है.

यह भी पढ़ें: ताइवान द्वारा चीन के सुखोई एयरक्राफ्ट को मार गिराए जाने का दावा

अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि दिल्ली (Delhi) में परसों 2737 मामले सामने आए और 19 लोगों की मौत हुई. जून के महीने के हिसाब से देखें तो 27 जून को 2900 मामले सामने आए थे और उस दिन 66 मौत हुई थी. लेकिन आज उतने ही मामलों के सामने आने पर 10 से 20 मौत हो रही हैं.

टेस्टिंग बढ़ाने से बढ़े मामले

सीएम ने कहा कि दिल्ली के अंदर मामले क्यों बढ़ रहे हैं. इसका सीधा सा जवाब यह है कि हमने टेस्टिंग बढ़ा दी है.

अरविंद केजरीवाल ने बताया,

अभी तक पिछले दिनों हम 18 से 20,000 टेस्ट कर रहे थे लेकिन अब करीब 40,000 टेस्ट कर रहे हैं. इसे आप कोरोना पर हमले के तौर पर देख सकते हैं, अगर आज मैं टेस्ट कम कर दूं तो मामले भी कम हो जाएंगे. जो बीमार मिले उसको अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना मेरा काम है.

कल से खुल रही है निजामुद्दीन दरगाह

उधर लॉकडाउन के दौरान बंद रही दिल्ली (Delhi) की निजामुद्दीन दरगाह 6 सितंबर से सभी लोगों के लिए खुलने जा रही है. दरगाह में नियमों का पालन हो सके, इसलिए जगह-जगह सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर निशान बनाए गए हैं.
लोगों के लिए सेनिटाइजेशन मशीन की व्यवस्था की गई है. दरअसल, कमेटी ने पहले भी दरगाह खोलने का फैसला लिया था लेकिन उस वक्त फैसले को वापस ले लिया गया.

दिल्ली (Delhi) के इस दरगाह जाने वाले लोगों को मास्क लगाना अनिवार्य होगा, वरना उन्हें प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी. दरगाह में जगह-जगह सेनिटाइज करने के लिए मशीन लगाई गई है, उनका इस्तेमाल करना आवश्यक होगा.

दरगाह के मुख्य दरवाजे पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी, टेम्परेचर सही होने पर ही अंदर जाने की अनुमति होगी. साथ ही श्रद्धालुओं को दूरी बनानी होगी. दरगाह में कैमरे से लोगों पर निगरानी रखी जाएगी.

श्रद्धालुओं को दरगाह में अंदर रुकने की इजाजत नहीं होगी. ना ही मजार को छू सकेंगे और ना ही फूल चढ़ा सकेंगे. दरगाह के अंदर वुजू ( हाथ मुंह धोने) की अनुमति नहीं होगी.

दिल्ली में कोरोना का हाल

मालूम हो कि दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ने लगे हैं. हाल के समय में रोज ही पिछले दिन से अधिक मामले दर्ज हो रहे हैं. शुक्रवार को भी राजधानी दिल्ली (Delhi) में 2914 लोगों में कोविड-19 की पुष्टि हुई है. गुरुवार के 2737 केस के मुकाबले यह संख्या 177 ज्यादा है.

दिल्ली (Delhi) सरकार की हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के 2914 नए मामलों के साथ अब कुल संक्रमितों की संख्या 1 लाख 85 हजार 220 हो गई है. वहीं बीते 24 घंटे में कुल 13 लोगों की कोरोना महामारी के कारण जान गई है. इस तरह राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना के कारण मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 4513 तक पहुंच गई है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें