Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली दंगा के गवाह का दावा, भड़काऊ भाषण की वजह से भड़की थी हिंसा

दिल्ली दंगा के गवाह का दावा, भड़काऊ भाषण की वजह से भड़की थी हिंसा

0
585
  • दिल्ली दंगा के गवाह का मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज
  • गवाह ने किया दावा सलमान खुर्शीद, वृंदा करात और उदित राज आए थे प्रदर्शन वाले जगह
  • इन लोगों ने दिया था भड़काऊ भाषण इसकी वजह से भड़की थी हिंसा
  • दिल्ली पुलिस इससे पहले भी कई लोगों के नाम को पूरक आरोप पत्र में कर चुकी है शामिल

नागरिकता संशोधित कानून के विरोध में हो रहे प्रदर्शन को लेकर राजधानी दिल्ली में होने वाले सांप्रदायिक दंगों की आंज अब कांग्रेस के दिग्गज नेता सलमान खुर्शीद तक पहुंच गई है.

दिल्ली पुलिस ने आरोप पत्र में भड़काऊ भाषण देने के मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, माकपा नेता वृंदा करात और उदित राज के नाम को शामिल किया है.

मजिस्ट्रेट के सामने गवाह का बयान दर्ज

दिल्ली दंगा मामले को लेकर एक संरक्षित गवाह ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज करवाया. जिसमें उसने दावा किया कि सलमान खुर्शीद, माकपा नेता वृंदा करात और उदित राज ने भड़काऊ भाषण दिए थे.

जिसकी वजह से ही दिल्ली में हिंसा फैली थी. इस गवाह का बयान मजिस्ट्रेट के सामने धारा 164 के तहत दर्ज कराया गया.

गवाह ने दावा किया कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ होने वाले विरोध प्रदर्शन में उदित राज, सलमान खुर्शीद, बृंदा करात, उमर खालिद जैसे कई जाने माने लोग आते थे.

यह भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा में नाम सामने आने पर भड़के येचुरी, कहा-जहरीले भाषण देने वालों पर कब होगी कार्रवाई?

नाम शामिल होने पर भड़के येचुरी

दिल्ली हिंसा में पुलिस द्वारा सह-सजिशकर्ताओं के लिस्ट में नाम शामिल होने के बाद सीताराम येचुरी ने एक नहीं बल्कि कई ट्वीट कर केंद्र की मोदी सरकार गृह मंत्रालय और दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगए हैं.

नाम सामने आने पर उन्होंने पहला ट्वीट करते हुए लिखा-“56 लोग दिल्ली की हिंसा में मारे गए. ज़हरीले भाषणों का video है, उन पर कार्यवाई क्यों नहीं हो रही है?

क्योंकि सरकार ने आदेश दिया है कि विपक्ष को लपेटा जाए, किसी भी तरह से. यही है मोदी और BJP का असली चेहरा, चरित्र, चाल और चिंतन. विरोध तो होगा इसका.”

दिल्ली हिंसा के पूरक आरोप पत्र में कई लोगों के नाम को पुलिस ने किया शामिल

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ होने वाले विरोध प्रदर्शन के दौरान दिल्ली के कई इलाकों में सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई थी. आप के पूर्व पार्षद को इस हिंसा का मास्टरमाइंड माना जा रहा है.

लेकिन दिल्ली पुलिस ने दिल्ली हिंसा में पूरक आरोप पत्र दाखिल कर माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव, अर्थशास्त्री जयति घोष, दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और सामाजिक कार्यकर्ता अपूर्वानंद के साथ ही साथ डॉक्यूमेंट्री फिल्मकार राहुल रॉय को दंगों का सह-साजिशकर्ता बताया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

श्रम विधेयक पर राहुल गांधी का तंज, किसानों के बाद मजदूरों पर वार