Gujarat Exclusive > गुजरात > AMC चुनाव में भाजपा को मिली कामयाबी, अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने की मांग तेज

AMC चुनाव में भाजपा को मिली कामयाबी, अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने की मांग तेज

0
285

अहमदाबाद: अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने की मांग लंबे समय से उठ रही है.Demand for changing name of Ahmedabad city

भारतीय जनता पार्टी अपने सोशल मीडिया हैंडल और लेटर पैड पर कर्णावती महानगर लिखते आ रही है. अहमदाबाद नगर निगम में 192 में से 159 सीटें जीतने के बाद अहमदाबाद का नाम फिर से बदलने की मांग तेज हो गई है.

गौरतलब है कि यह मांग उस वक्त तेज हुई है जब दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर सरदार पटेल स्टेडियम से नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर दिया गया है.

नाम बदलने के बाद यह सवाल उठने लगा है कि क्या सरदार बड़े हैं या पीएम मोदी? Demand for changing name of Ahmedabad city 

डॉ. वसंत पटेल ने गुजरात भाजपा अध्यक्ष को पत्र लिखकर की मांग Demand for changing name of Ahmedabad city 

अहमदाबाद के चिकित्सक डॉ. वसंत पटेल ने गुजरात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल को पत्र लिखकर अहमदाबाद का नाम बदलने की मांग की है.

डॉ वसंत पटेल ने कहा, “जीसीए के तहत आने वाले मोटेरा स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर दिया गया है. यह दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है.

ऐसे मैं सोच रहा हूं कि अहमदाबाद शहर का भी नाम बदल दिया जाए इसके लिए सालों से मेहनत कर रहे हैं. Demand for changing name of Ahmedabad city 

मैंने प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल को पत्र लिखकर अहमदाबाद का नाम कर्णावती रखने की मांग की है.”

नाम बदलने की मांग हुई तेज Demand for changing name of Ahmedabad city 

गौरतलब है कि जब भी गुजरात में चुनाव आता है, अहमदाबाद शहर का नाम बदलने की लगातार मांग उठने लगती है. Demand for changing name of Ahmedabad city 

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी कई बार अहमदाबाद को कर्णावती नाम देने की वकालत कर चुके हैं.

अहमदाबाद का नाम कर्णावती रखने की मांग को लेकर भाजपा और संघ के बीच आंतरिक प्रतिद्वंद्विता है.

गुजरात सरकार ने ड्रैगन फल का नाम बदला Demand for changing name of Ahmedabad city 

गौरतलब है कि इससे पहले भी एक नहीं बल्कि कई बार अहमदाबाद शहर का नाम बदलने की कोशिश की गई है. लेकिन सरकार के इस फैसले का चौतरफा विरोध भी हुआ था जिसके बाद इस फैसले को बंद बक्से में डाल दिया गया.

लेकिन बीते दिनों रूपाणी सरकार ने चीन से बदला लेने के लिए चीनी फल ड्रैगन के नाम को बदलने का फैसला किया था. Demand for changing name of Ahmedabad city 

उनके अनुसार यह कमल जैसा दिखता है इसलिए इसे अब गुजरात में कमलम के नाम से जाना जाएगा. दिलचस्प बात यह कि गांधीनगर में स्थित भाजपा दफ्तर का नाम भी कमलम है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात में भी लागू किया जाएगा लव जिहाद के खिलाफ कानून: सीएम रुपाणी