Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > क्या आपको मालूम है गणतंत्र दिवस के मौके पर आसान भाषण देने का तरीका

क्या आपको मालूम है गणतंत्र दिवस के मौके पर आसान भाषण देने का तरीका

0
485

आज भारत अपना 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. 26 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया गया है. दरअसल इस दिन ही हमारे देश को अपना संविधान मिला था. 26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बजकर 18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया था. संविधान लागू होने के बाद हमारा देश भारत एक गणतंत्र देश बन गया. इस के 6 मिनट बाद 10 बजकर 24 मिनट पर राजेंद्र प्रसाद ने भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी. इस दिन पहली बार बतौर राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद बग्गी पर बैठकर राष्ट्रपति भवन से निकले थे.

यह संविधान ही है जो भारत के सभी जाति और वर्ग के लोगों को एक दूसरे जोड़े रखता है. भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है. 2 साल, 11 महीने और 18 दिन में यह तैयार हुआ था. संविधान को लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया, क्योंकि 1930 में इसी दिन कांग्रेस के अधिवेशन में भारत को पूर्ण स्वराज की घोषणा की गई थी.

गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर भव्य गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन होता है. राष्ट्रपति तिरंगा झंडा फहराते हैं. राष्ट्रगान और ध्वजारोहण के साथ उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाती है. अशोक चक्र और कीर्ति चक्र जैसे महत्वपूर्ण सम्मान दिए जाते हैं. राजपथ पर निकलने वाली झांकियों में भारत की विविधता में एकता की झलक दिखती है. परेड में भारत की तीनों सेना- नौ सेना, थल सेना और वायु सेना की टुकड़ी शामिल होती हैं और सेना की ताकत दिखती है.