Gujarat Exclusive > देश-विदेश > मोदी सरकार के फैसले से किसानों के बाद डॉक्टर भी कर रहे हड़ताल, ज्यादातर सेवाएं ठप

मोदी सरकार के फैसले से किसानों के बाद डॉक्टर भी कर रहे हड़ताल, ज्यादातर सेवाएं ठप

0
322

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लागू तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर के किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे है. Doctor strike

राजधानी दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डंटे किसान कानून को रद्द करने की मांग कर रहे हैं. किसानों के आंदोलन का आज 16 वां दिन है.

इस बीच कोरोना महामारी के बीच डॉक्टरों ने भी हड़ताल करने का फैसला किया है. केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ देशभर के डॉक्टरों ने 12 घंटों के हड़ताल का ऐलान किया है.

हड़ताल पर देशभर के डॉक्टर

दरअसल केंद्र की मोदी सरकार ने पिछले दिनों एक आदेश जारी कर आयुर्वेदिक और यूनानी पद्धति के डॉक्टर्स को भी मरीजों की सर्जरी करने की अनुमति दे दी थी.

सरकार के इस फैसले का इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, इंडियन डेंटल एसोसिएशन और नेशनल मेडिकोस ऑर्गनाइजेशन कड़ा विरोध कर रहा है. Doctor strike

सरकार के फैसले का विरोध करने वाले संस्थाओं का मानना है कि हर पद्धति में इलाज का अपना अलग तरीका होता है. इसे साथ में नहीं जोड़ा जा सकता.

अगर अलग-अलग पद्धति से होने वाले इलाज को एक साथ जोड़ दिया जाता है तो मानव जीवन और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रणाली के लिए घातक हो सकता है.

मोदी सरकार के फैसले का डॉक्टर कर रहे हैं विरोध

कोरोना संकट के बीच इस तरीके से डॉक्टरों के हड़ताल के फैसले से ज्यादातर स्वास्थ्य सेवाएं ठप पड़ गई है. हालांकि इस दौरान इमरजेंसी और कोविड सेवाएं जारी रहेंगी.

हड़ताल के दौरान प्राइवेट हॉस्पिटल, डायग्नोस्टिक सेंटर, पैथोलॉजी बंद रहेगी. इतना ही नहीं विरोध करने वाले डॉक्टरों ने निजी हॉस्पिटल में ओपीडी को भी नहीं खोलने का फैसला किया है.

माना जा रहा है कि इस हड़ताल का सरकारी अस्पतालों पर भी असर पड़ेगा. Doctor strike

किसानों का आंदोलन तेज Doctor strike

राजधानी दिल्ली के साथ अन्य जगहों पर प्रदर्शन कर रहे किसान अब आंदोलन को और तेज करने का फैसला किया है. किसानों से साफ कर दिया है कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं करेगी. तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा.

बीते दिनों किसानों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकराकर आरपार की लड़ाई का ऐलान कर दिया था. किसान नेताओं ने कहा कि वह आंदोलन को आने वाले दिनों में तेज कर देंगे पहले नेशनल हाईवे को ब्लॉक किया जाएगा उसके बाद जिला मुख्याल का घेराव इससे भी बात नहीं बनी तो फिर बीजेपी नेताओं का भी घेराव किया जाएगा. Doctor strike

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

भारत में ढलान की ओर कोरोना, 4 दिन में दूसरी बार 30 हजार से कम दर्ज हुए नए मामले