Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ट्रंप प्रशासन ने जिसे हटाया, उस डॉ. मूर्ति को बाइडेन सौंप सकते हैं अहम जिम्मेदारी

ट्रंप प्रशासन ने जिसे हटाया, उस डॉ. मूर्ति को बाइडेन सौंप सकते हैं अहम जिम्मेदारी

0
315

अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति (US President) जो बाइडेन (Joe Biden) की टीम में भारतीय कनेक्शन की बड़ी भूमिका सामने आ रही है. भारत से संबंध रखने वालीं कमला हैरिस के बाद अब एक और भारतीय को बाइडेन विशेष जिम्मेदारी सौंपने जा रहे हैं. दरअसल संक्रमण के बढ़ते मामलों से चिंतित बाइडन चंद घंटों में कोविड-19 टास्क फोर्स का ऐलान करनेवाले हैं. भारतीय-अमेरिकी चिकित्सक डॉक्टर विवेक मूर्ति (Dr. Vivek Murthy) को कोरोनावायरस को लेकर अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन के टास्ट फउोर्स का प्रमुख नियुक्त किया जा सकता है.

बाइडेन सोमवार को अपने कार्यबल की घोषणा कर सकते हैं. कोविड-19 टास्क फोर्स प्रमुख की रेस में पूर्व सर्जन जनरल विवेक मूर्ति (Dr. Vivek Murthy) सबसे आगे चल रहे हैं. ऐसे में अगर उनकी पद पर नियुक्ति हो जाती है तो मूर्ति पहले भारतीय-अमेरिकी मूल के शख्स हो जाएंगे.

यह भी पढ़ें: फिरोज नाडियादवाला के बाद अर्जुन रामपाल के घर NCB की छापेमारी, हिरासत में ड्राइवर

मालूम हो कि चुनाव प्रचार के दौरान मूर्ति (Dr. Vivek Murthy) जन स्वास्थ्य और कोरोना वायरस के मुद्दों पर बाइडेन के शीर्ष सलाहकारों में से एक सलाहकार बनकर उभरे थे. कई लोगों का मानना है कि उन्हें बाइडेन प्रशासन में स्वास्थ्य मंत्री बनाया जा सकता है.

ट्रंप प्रशासन ने हटाया था

मूल रूप से कर्नाटक से संबंध रखने वाले मूर्ति (Dr. Vivek Murthy) को 2014 में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका का 19वां सर्जन जनरल नियुक्त किया था. उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप से पहले चार साल तक सर्जन जनरल का पद संभाला. 2017 में राष्ट्रपति बनने के बाद ट्रंप प्रशासन ने मूर्ति को पद से हटा दिया था.

मूर्ति (Dr. Vivek Murthy) का जन्म इंग्लैंड में बसे कर्नाटक के अप्रवासी परिवार में हुआ था. परिवार 1978 में न्यूफाउंडलैंड चला गया जहां उनके पिता ने मेडिकल प्रैक्टिशनर के तौर पर काम किया. आखिरकार परिवार मियामी में स्थानांतरित हो गया. मूर्ति ने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से बायोकेमिकल साइंस की पढ़ाई की. उन्होंने याले स्कूल ऑफ मेडिसिन और याले स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से एमडी और एमडी की डिग्री हासिल की.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

खराब वायु गुणवत्ता वाले दिल्ली-NRC सहित राज्यों में NGT ने 30 नवबंर तक पटाखों पर लगाया बैन