Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ट्रंप को आसमानी हमले से बचाएगा DRDO का एंटी ड्रोन सिस्टम, परीक्षण हुआ सफल

ट्रंप को आसमानी हमले से बचाएगा DRDO का एंटी ड्रोन सिस्टम, परीक्षण हुआ सफल

0
112

भारत दौरे पर आ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सुरक्षा को चाक-चौबंद किया जा रहा है. देश की सुरक्षा एजेंसियां ट्रंप की सुरक्षा को लेकर कोई भी कोताही नहीं बरतना चाहती हैं. इसी बीच भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने आतंकी समूहों के मंसूबे पर पानी फेरते हुए एंटी-ड्रोन सिस्टम विकसित किया है जिसका सफल परीक्षण भी कर लिया गया है. ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान इस प्रणाली का इस्तेमाल किया जाएगा. ट्रंप की सुरक्षा की दृष्टि से एंटी ड्रोन सिस्टम को तैनात किया जा रहा है.

आतंकियों का हर मंसूबा होगा नाकाम

भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधि को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन ड्रोन का इस्तेमाल करने की फिराक में रहते हैं. ऐसे में भारत ने एंटी ड्रोन तकनीक का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. इसने परीक्षणों के दौरान UAV को सफलतापूर्वक बर्बाद कर दिया. सरकारी सूत्रों ने मीडिया को बताया कि DRDO सिस्टम ने अपनी किलिंग सिस्टम का उपयोग करते हुए ट्रायल के दौरान एक आने वाले ड्रोन को सफलतापूर्वक मार गिराया. मालूम हो कि काउंटर ड्रोन सिस्टम में ड्रोन का पता लगाने और नष्ट करने दोनों की क्षमता है.

सूत्रों ने बताया कि हथियारों की तस्करी के लिए कई ड्रोन का इस्तेमाल पंजाब और जम्मू में पाकिस्तान के साथ नदी की सीमा पर किया जा रहा है, जहां छोटे ड्रोन बहुत कम ऊंचाई पर उड़ान भरते हैं और आपूर्ति गिराते हैं. हाल के ही दिनों में सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तान से आने वाले कुछ ड्रोनों को भी मार गिराया है.

गणतंत्र दिवस के दौरान किया गया था तैनात

गणतंत्र दिवस परेड को सुरक्षा की दृष्टिर से इस बार सबसे पहले DRDO काउंटर ड्रोन सिस्टम को तैनात किया गया था. इस गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो थे. उनको सुरक्षा प्रदान कराने के लिए इस सिस्टम का इस्तेमाल किया गया था. साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य गणमान्य लोगों भी मौजूद थे.