Gujarat Exclusive > राजनीति > भाजपा को कड़ी टक्कर देने को ममता बनर्जी तैयार, शुरू की ‘दुआरे-दुआरे सरकार’ अभियान

भाजपा को कड़ी टक्कर देने को ममता बनर्जी तैयार, शुरू की ‘दुआरे-दुआरे सरकार’ अभियान

0
495

पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. लेकिन सियासी सरगर्मियां अभी से ही तेज हो गई हैं. Duare-Duare government’ campaign

भाजपा जहां अगले साल होने वाले चुनाव में बहुमत के साथ सरकार बनाने का दावा कर रही है. Duare-Duare government’ campaign

ममता सरकार ने चुनाव को मद्दनेजर रखते हुए बंगाल के लोगों से जमीनी स्तर पर संपर्क साधने के लिए ‘दुआरे-दुआरे सरकार’ अभियान का आगाज किया है.

‘दुआरे-दुआरे पश्चिम बोंगो सरकार’

सबसे बड़े संपर्क अभियान ‘दुआरे- दुआरे पश्चिम बोंगो सरकार’ यानी (प्रत्येक द्वार बंगाल सरकार) नामक अभियान के तहत पिछले दस सालों में टीएमसी सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं-नीतियों और विकास के कार्यों घर-घर तक लोगों के बीच पहुंचाने और उनकी शिकायतें सुनने के लिए इस अभियान का आगाज किया गया है.

राज्य सरकार के सीनियर अधिकारी ने इस सिलसिले में जानकारी देते हुए बताया कि ‘दुआरे सरकार’ अभियान के तहत करीब एक दर्जन सरकारी कार्यक्रमों और उसके लाभार्थियों से जुड़ी शिकायतों को सुना जाएगा और इन शिकायतों को हल करने की कोशिश की जाएगी. Duare-Duare government’ campaign

यह भी पढ़ें: किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी, 3 बजे सरकार और किसानों के बीच होगी बैठक

गांव-गांव में लगेंगे शिविर Duare-Duare government’ campaign

इस अभियान को सफल बनाने के लिए राज्य सरकार आज से यानी 1 दिसंबर से 29 जनवरी के बीच राज्य के सभी 344 ब्लॉक और प्रत्येक गांव में कम से कम चार शिविर लगाएगी.

इन शिविरों में आने वाले लोगों की मदद सरकारी अधिकारी करेंगे. इसके तहत मनरेगा जॉब कार्ड, हेल्थ कार्ड, जाति प्रमाण पत्र सहित विभिन्न सरकारी सुविधाओं का उपयोग करना सिखाया जाएगा.

ममता सरकार पहले ही अधिकारियों को निर्देश दे चुकी है कि बांग्ला सहायता केंद्रों पर जोर दिया जाए. जिससे बंगालवासियों को सरकारी योजनाओं के बारे में आसानी से निशुल्क जानकारी मिल सके.

भाजपा ने बताया चुनावी स्टंट Duare-Duare government’ campaign

अगले साल होने वाले चुनाव से पहले बीते दिनों अमित शाह ने आदिवासी कार्यकर्ता के यहां भोजन किया था. इस मामले को टीएमसी ने चुनावी स्टंट करार दिया था.

अब भाजपा राज्य सरकार के इस अभियान की आलोचना करते हुए इसे चुनावी स्टंट करार दिया. आगामी चुनाव में सत्तारूढ़ टीएमसी को भाजपा के बीच कांटे की टक्कर होने वाली है.

इसीलिए भाजपा चुनाव से पहले टीएमसी सरकार की ओर से शुरू किए गए इस अभियान को चुनावी नजरिए से देख रही है. Duare-Duare government’ campaign

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कृषि कानून विरोध: अहंकार की कुर्सी से उतरकर सोचिए और किसान का अधिकार दीजिए: राहुल गांधी