Gujarat Exclusive > गुजरात > ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में गुजरात 10वें पायदान पर फिसला, यूपी की लंबी छलांग

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में गुजरात 10वें पायदान पर फिसला, यूपी की लंबी छलांग

0
509

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) रैंकिंग के मामले में गुजरात का प्रदर्शन लगातार गिरता जा रहा है. केंद्र सरकार ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) की रैंकिंग जारी की है जिसमें गुजरात 10वें पायदान पर फिसल गया है. वहीं उत्तर प्रदेश 12वें पायदान से छलांग लगाकर दूसरे स्थान पर पहुंच गया है.

केंद्र सरकार ने शनिवार को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) की रैंकिंग जारी की है जिसके मुताबिक पहले स्थान पर आंध्र प्रदेश है. इसके बाद दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश है. उसके बाद तेलंगाना (3), मध्य प्रदेश (4), झारखंड (5) , छत्तीसगढ़ (6), हिमाचल प्रदेश (7), राजस्थान (8), पश्चिम बंगाल (9) और गुजरात (10) का स्थान आता है.

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) के मामले में गुजरात 2015 में शीर्ष पर था. इसके बाद वह 2016 में तीसरे स्थान पर और 2017 में 5 वें पर आ गया लेकिन अब वह 10वें स्थान पर फिसल गया है.

Ease of Doing Business

आंध्र लगातार दूसरे वर्ष शीर्ष पर 

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय और वित्त मंत्री ने शनिवार को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की रैंकिंग जारी की. इसमें आंध्र प्रदेश लगातार दूसरे वर्ष शीर्ष पर है.

आंध्र प्रदेश और यूपी ने 2019 के लिए सूची में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया.

दूसरे पायदान पर पहुंचा यूपी

2019 की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) रैंकिंग में उत्तर प्रदेश ने एक बड़ी छलांग लगाई है. वह 2018 में 12वें स्थान पर था लेकिन अब वह दूसरे स्थान पर पहुंच गया है. तेलंगाना  पिछली बार दूसरे स्थान पर था.

यह भी पढ़ें: अहमदाबाद कलेक्टर निराला का तबादला, संदीप सांगले को मिली जिम्मेदारी

यूपी की सफलता पर सीएम ऑफिस ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश समृद्धि और सृजन के नए सोपान रच रहा है. यूपी द्वारा ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग’ में गत वर्ष 12वें स्थान के सापेक्ष इस वर्ष द्वितीय स्थान प्राप्त करना, इसका प्रमाण है. ‘आत्मनिर्भर भारत’ की संकल्पना साकार हो रही है.”

 

हरियाणा का खराब प्रदर्शन, दिल्ली चमकी

वहीं हरियाणा को शीर्ष-10 से बाहर होना पड़ा है. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) के मामले में इस बार हरियाणा का प्रदर्शन बहुत खराब रहा. क्षेत्र के आधार पर उत्तर भारत में यूपी, पूर्व में झारखंड, पश्चिम में मध्य प्रदेश और पूर्वोत्तर में असम ने अच्छा प्रदर्शन किया.

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) की रैंकिंग में 2018 में राजधानी दिल्ली 23वें स्थान पर थी लेकिन इस बार उसने 11 स्थान की छलांग लगाई और 12वें स्थान पर पहुंच गई है.

वित्त मंत्री ने सूची जारी करते हुए कहा कि इससे राज्यों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रैंकिंग बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के कार्यान्वयन पर आधारित थी.

क्या है ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग

मालूम हो कि घरेलू व वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करने के लिए केंद्र सरकार प्रत्येक साल ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) रैंकिंग जारी करती है. इसे राज्य व्यापार सुधार एक्शन प्लान रैंकिंग भी कहा जाता है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को वर्ष 2019 के लिए यह रैंकिंग जारी की है.

दरअसल राज्यों में कारोबारी माहौल सुधारने के लिए भी यह आंकड़ा जारी किया जाता है. इस रैकिंग से पता चलता है कि व्यापार में सुधार के लिए कौन सा राज्य कितना बेहतर काम कर रहा है, जिससे कि निवेशक, उन राज्यों में व्यापार बढ़ाने के लिए आकर्षित हो.

रैंकिंग का मानदंड निर्माण परमिट, श्रम कानून, पर्यावरण पंजीकरण, सूचना तक पहुंच, भूमि की उपलब्धता और एकल खिड़की प्रणाली हैं.

इसके लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of Doing Business) रैंकिंग बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के तहत उद्योग और आंतरिक व्यापार (DPIIT) को बढ़ावा देने के लिए विभाग द्वारा तैयार की जाती है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें