Gujarat Exclusive > गुजरात > रहने के मामले में शीर्ष 10 में गुजरात के तीन शहर, अहमदाबाद तीसरे नंबर पर

रहने के मामले में शीर्ष 10 में गुजरात के तीन शहर, अहमदाबाद तीसरे नंबर पर

0
552

Ease of Living: रहने के मामले में गुजरात के तीन शहरों को देश शीर्ष 10 शहरों में जगह मिली है. केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने गुरूवार को ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स रैंकिंग-2020 जारी की जिसमें बेंगलुरु को शीर्ष स्थान दिया गया है जबकि शीर्ष 10 शहरों में गुजरात के तीन शहरों को जगह दी गई है. Ease of Living

देश में 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में रहने के लिए बेंगलुरू सबसे बेस्ट शहर बन गया है. वहीं 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों में शिमला सबसे टॉप पर रहा है. वहीं गुजरात के जिन तीन शहरों को रहने के लिहाज से शीर्ष 10 में जगह मिली है, उनमें अहमदाबाद सबसे ऊपर है. Ease of Living

यह भी पढें: जिस गेंदबाज ने ली हैट्रिक, उसके अगले ओवर में पोलार्ड ने मारे लगातार 6 छक्के

बेंगलुरू 66.70 के स्कोर के साथ शीर्ष पर है जबकि पुणे 66.27 के स्कोर के साथ दूसरे नंबर पर है. इसके बाद अहमदाबाद का नंबर है जिसे 64.87 अंक मिले हैं. इसके अलावा सूरत 61.73 अंक के साथ पांचवें और 59.24 अंकों के साथ वडोदरा रहने के लिए सबसे अच्छे शहरों में आठवें नंबर पर है. Ease of Living

वहीं 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों में शिमला जहां शीर्ष पर है तो वहीं गुजरात की राजधानी गांधीनगर 56.25 अंकों के साथ सातवें स्थान पर है. 60.90 अंकों के साथ शिमला को शीर्ष स्थान दिया गया है. Ease of Living

दिल्ली शीर्ष 10 से बाहर

खास बात यह है कि देश की राजधानी दिल्ली इन दोनों कैटगरी में 10 वे नंबर तक भी नहीं पहुंच पाई. दिल्ली 13 वें नंबर पर ही सिमटकर रह गई. बता दें कि रहने के लिए सबसे बेस्ट शहरों की रैंकिंग में देश भर के 111 शहरों ने हिस्सा लिया. शहरों को दो कैटगरी में बांटा गया. पहली कैटगरी में वे शहर शामिल किए गए जिनकी आबादी 10 लाख से ज्यादा थी वहीं दूसरी कैटगरी में उन शहरों को शामिल किया गया जिनकी आबादी 10 लाख से कम थी. Ease of Living

पहली बार 2018 में शहरों की रैंकिंग की गई थी अब यह दूसरी बार जब 2020 में शहरों की रैंकिंग की गई. इस कैटगरी में मुख्य रूप से तीन पिलर्स हैं, ये पिलर्स रहने की गुणवत्ता जिसके रैंकिंग के लिए 35 फीसदी अंक रखे गए थे. दूसरा पिलर आर्थिक योग्यता इसके लिए 15 फीसदी अंक और विकास की स्थिरता कैसी है इसके लिए 20 फीसदी अंक तय किए गए, बाकी 30 फीसदी लोगों के बीच किया गया सर्वे के लिए तय किए गए थे, जबकि 49 इंडिकेशंस से जिनके आधार पर इनकी रैंकिंग की गई. Ease of Living

यह सर्वे 19 जनवरी, 2020 से मार्च, 2020 के तहत किया गया। इस सर्वे में 32 लाख 20 हजार लोगों ने अपनी राय दी. यह राय ऑनलाइन फीडबैक, क्यू आर कोड, फेस टू फेस सहित कई माध्यमों के जरिए लिया गया. उसके बाद सभी 111 शहरों की समीक्षा करने के बाद उनकी रैंकिंग दी गई.

10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों की रैंकिंग
शहर स्कोर
1. बेंगलुरु 66.70
2. पुणे 66.27
3. अहमदाबाद 64.87
4. चेन्नई 62.61
5. सूरत 61.73
6. नवी मुंबई 61.60
7. कोयम्बटूर 59.72
8. वडोदरा 59.24
9. इंदौर 58.58
10. ग्रेटर मुंबई 58.23

10 लाख से कम आबादी वाले शहरों की रैंकिंग
शहर स्कोर
1. शिमला 60.90
2. भुवनेश्वर 59.85
3. सिल्वासा 58.43
4. काकिनाडा 56.84
5. सेलम 56.40
6. वेल्लोर 56.38
7. गांधीनगर 56.25
8. गुरूग्राम 56.00
9. दवनगेरे 55.25
10. त्रिचुरपल्ली 55.24

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें