Gujarat Exclusive > देश-विदेश > आंदोलन को तेज बनाने के लिए 14 को किसान यूनियन के नेता करेंगे भूख हड़ताल

आंदोलन को तेज बनाने के लिए 14 को किसान यूनियन के नेता करेंगे भूख हड़ताल

0
295

मोदी सरकार द्वारा लागू कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान सरकार का मसौदा प्रस्ताव ठुकरा दिया है. Farmer leaders hunger strike

किसानों ने प्रस्ताव को ठुकराने के बाद साफ कर दिया था कि अब आंदोलन को तेज कर दिया जाएगा. किसानों ने आज कई टोल प्लाजा पर कब्जा कर लिया और उसे जबरन फ्री करवा दिया.

टोल प्लाजा पर कब्जा करने की जानकारी मिलने के बाद प्रशासन ने वहां भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया है.

14 दिसंबर को भूख हड़ताल पर बैठेंगे

इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि किसान नेता आंदोलन को तेज बनाने के लिए अब भूख हड़ताल पर उतरने का फैसला किया है. यूनियन के नेता 14 दिसंबर को भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

इतना ही नहीं किसान नेताओं ने कहा कि अगर सरकार कृषि कानून को लेकर फिर से बातचीत करना चाहती है तो हम सरकार से बातचीत करने के लिए तैयार हैं.

किसानों ने टोल प्लाजा पर किया कब्जा Farmer leaders hunger strike

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का आज 17वां दिन है. मोदी सरकार से आर-पार की लड़ाई लड़ने का ऐलान कर चुके किसान कानून रद्द करने की मांग पर आज भी अड़े हुए हैं.

राजधानी दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डटे किसानों ने अपने आंदोलन को और तेज करने का निर्णय लिया है. किसान संगठनों ने दिल्ली जयपुर और दिल्ली आगरा हाईवे को बंद करने का ऐलान किया है.

इतना ही नहीं किसान हरियाणा में टोल प्लाजा को घेरने की तैयारी कर रहे हैं. किसानों ने आज कई जगहों पर टोल प्लाजा पर कब्जा कर टोल फ्री कर दिया.

जिसकी वजह से किसान दिल्ली की ओर कूच करने लगे हैं.

‘मत कीजिए हमारा भला’ Farmer leaders hunger strike

खबरों के मुताबिक, किसान संगठन के प्रतिनिधि ने कहा कि आप लोग ऐसा कानून लाए हैं जिससे हमारी जमीने बड़े कॉरपोरेट ले लेंगे, आप कॉरपोरेट को इसमे मत लीजिए.

अब समिति बनाने का समय नहीं है. आप कहते हैं कि आप किसानों का भला करना चाहते हैं, हम कह रहे हैं कि आप हमारा भला मत कीजिए.  Farmer leaders hunger strike

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात बेमौसम बारिश: CM रूपाणी ने कहा सर्वे कर किसानों को दिया जाएगा मुआवजा