Gujarat Exclusive > राजनीति > राहुल गांधी ने किसानों की पीड़ा को सुना, कृषि बिल को बताया अंग्रेजों का कानून

राहुल गांधी ने किसानों की पीड़ा को सुना, कृषि बिल को बताया अंग्रेजों का कानून

0
284
  • कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर बोला हमला
  • अंग्रेजों का कानून करार देते हुए कहा बीजेपी वाले अंग्रेजों के साथ खड़े थे
  • अगर महात्मा गांधी जिंदा होते तो आज इस बिल का विरोध करते

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को कृषि बिल का विरोध कर रहे किसानों से बातचीत की. उन्होंने किसानों से बातचीत करते हुए उनके मुंह से उनकी पीड़ा को सुना.

इस मौके पर उन्होंने मोदी सरकार के इस कानून को अंग्रेजों का कानून करार दिया.

राहुल गांधी ने किसानों से बाचतीत करते हुए कहा कि अगर महात्मा गांधी जिंदा होते तो वह भी इस कानून का विरोध करते.

राहुल गांधी ने किसानों की पीड़ा को सुना

किसानों ने राहुल गांधी से बातचीत करते हुए कहा कि अब किसानों के बीच दलाल आ जाएंगे जिससे किसानों को भारी पैमाने पर नुकसान का सामना करना पड़ेगा.

इतना ही नहीं किसानों ने कहा कि इस कानून से इस्ट इंडिया कंपनी की याद आती है. किसानों ने राहुल से कहा कि अगर किसानों को उनकी लागत नहीं मिलेगी तो किसान परेशान होकर आत्महत्या करेंगे.

किसानों ने पीएम मोदी पर एमएसपी को लेकर हमला बोलते हुए कहा कि अब मोदी सरकार पर भरोसा नहीं क्योंकि सरकार हर दिन अपने वादे से मुकर रही है.

इस दौरान कुछ मजदूरों ने नए श्रमिक कानून का हवाला देकर इस बात को समझाने की कोशिशि किया.

 

किसानों ने मोदी सरकार पर देश को बर्बाद करने का लगाया आरोप

राहुल गांधी से बातचीत करते हुए कुछ किसानों ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि यह अमीरों की पार्टी है. देश को बर्बाद करने की कोशिश की जा रही है हर जगह को निजी हाथों में बेचा जा रहा है.

राहुल ने कहा कि हमने किसान भूमि अधिग्रहण कानून को लागू करने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी.

किसानों ने कहा कि इस कानून को लागू कर मोदी सरकार किसानों का हित नहीं बल्कि उद्योग घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए यह कानून लागू करने की कोशिश कर रही है.

राहुल गांधी ने किसानों से बातचीत करते हुए कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य है कि किसानों को कैसे बर्बाद किया जाए. हिंदुस्तान के पैसे को लेने की कोशिश की जा रही है.

उन्होंने कहा कि कृषि बिल, नोटबंदी, जीएसटी में कोई फर्क नहीं है. पहले पैर में कुल्हाड़ी मारी और अब दिल में चोट की.

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा कि हमें देश को बचाने के लिए इस बिल का विरोध करना होगा.

इन्हें ये बात समझ नहीं आएगी क्योंकि यह लोग तो अंग्रेजों के साथ खड़े थे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कृषि बिल का पूरे देश में जारी है विरोध, राहुल गांधी ने कहा भारत में मर चुका है लोकतंत्र