Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली में तैनात होंगे अतिरिक्त सुरक्षाबल, गृह मंत्री की आपात बैठक में फैसला

दिल्ली में तैनात होंगे अतिरिक्त सुरक्षाबल, गृह मंत्री की आपात बैठक में फैसला

0
312

किसानों द्वारा आयोजित ट्रैक्टर रैली (Farmers Protest) में हुई हिंसा के बाद गृह मंत्रालय सक्रिय हो गया है.  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के घर पर चल रही बैठक खत्म हो गई है. ये बैठक लगभग 2 घंटे तक चली और इसमें आईबी निदेशक और गृह सचिव समेत तमाम आला अधिकारी मौजूद रहे. बैठक में हालात की समीक्षा के बाद अनेक संवेदनशील स्थानों पर अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात करने के लिए कहा गया है.

बैठक में तत्काल प्रभाव से उन संवेदनशील जगहों पर सुरक्षाबलों की तैनाती के निर्देश दिए गए हैं जहां पर आज हिंसा (Farmers Protest) हुई है. यह जगह नांगलोई, आईटीओ और गाजीपुर हैं. गृह मंत्री द्वारा बुलाई गई इस बैठक में आईबी चीफ, गृह मंत्रालय के आला अधिकारी और दिल्ली पुलिस कमिश्नर मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें: पंजाब में ट्रैक्टर रैली के दौरान टैंकर ने महिलाओं को रौंदा, 2 की मौत

18 जवान हुए घायल

दिल्ली में किसान आंदोलन (Farmers Protest) से जुड़े किसानों द्वारा की गई हिंसा में 18 जवान घायल हुए हैं जिसमें एक की हालत गंभीर बताई जा रही है. इस बात की जानकारी दिल्ली पुलिस ने दी है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि आज की ट्रैक्टर रैली (Farmers Protest) के लिए दिल्ली पुलिस ने किसानों के साथ तय हुए शर्तों के अनुसार काम किया और आवश्यक बंदोबस्त किया. दिल्ली पुलिस ने अंत तक काफी संयम का परिचय दिया, परन्तु किसान आंदोलनकारियों ने तय शर्तों की अवहेलना की और तय समय से पहले ही अपना मार्च शुरू कर दिया और आंदोलनकारियों ने हिंसा व तोड़फोड़ का मार्ग चुना.

दिल्ली पुलिस ने आगे कहा कि दिल्ली पुलिस कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए संयम के साथ जरूरी कदम उठाए. इस आंदोलन (Farmers Protest) से जन संपत्ति को काफी नुकसान हुआ है और कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं. आंदोलनकारियों से अपील है कि हिंसा का रास्ता छोड़ शान्ति बनाएं और तय हुए रास्ते से वापिस लौट जाएं.

कारणों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता

उधर एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने दिल्ली में हुए बवाल पर कहा,

“आज दिल्ली में जो हुआ कोई भी उसका समर्थन नहीं करता परंतु इसके पीछे के कारण को भी नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता. पिछले कई दिनों से किसान धरने पर बैठे थे, भारत सरकार की ज़िम्मेदारी थी कि सकारात्मक बात कर हल निकालना चाहिए था. वार्ता हुई लेकिन कुछ हल नहीं निकला.”

रेलवे देगी रिफंड

दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर किसानों के ट्रैक्टर परेड (Farmers Protest) के दौरान हुई हिंसा के बाद भारतीय रेलवे ने अहम फैसला लिया है. रेलवे ने उन सभी लोगों के टिकट का पूरा पैसा वापस करने का निर्णय लिया है, जिन्हें दिल्ली से ट्रेन पकड़ना था, लेकिन वो समय पर स्टेशन नहीं पहुंच पाए. रेलवे की ओर से यात्रियों से अपील की गई है कि जिनकी भी ट्रेन आज रात 9 बजे तक दिल्ली से थी वो रिफंड के लिए अप्लाई कर दें.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें