Gujarat Exclusive > देश-विदेश > सीएम योगी ने दिए धरना खत्म कराने के आदेश, राकेश टिकैत ने दी आत्महत्या की धमकी

सीएम योगी ने दिए धरना खत्म कराने के आदेश, राकेश टिकैत ने दी आत्महत्या की धमकी

0
311

दिल्ली की सीमाओं पर जारी किसान आंदोलन (Farmers Protest) पर हालात खराब होते जा रहे हैं. इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के डीएम और पुलिस अधिकारियों को धरना (Farmers Protest) खत्म कराने का आदेश दिया है. वहीं किसान नेता धरने पर बने रहने की बात पर अड़े हुए हैं.

गाजीपुर बॉर्डर पर प्रशासन की राकेश टिकैत से हो रही वार्ता फिलहाल विफल रही. राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि बीजेपी के विधायक पुलिस के साथ आए हैं. अब इनकी गुंडागर्दी नहीं चलेगी.

यह भी पढ़ें: ममता बनर्जी का केंद्र पर हमला, कहा- पहले दिल्ली संभालें फिर बंगाल की सोंचें

किसान नेता राकेश टिकैत ने आत्महत्या की धमकी दी है. मीडिया से बातचीत में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रोते हुए कहा,

अगर तीनों कृषि कानून वापस नहीं होते हैं तो मैं आत्महत्या कर लूंगा. मुझे कुछ भी हुआ तो प्रशासन जिम्मेदार होगा. मैं किसानों को बर्बाद नहीं होने दूंगा.

राकेश टिकैत ने कहा कि गोली चलनी होगी तो यहीं चलेगी, आंदोलन जारी रहेगी. इस बीच गाजीपुर बॉर्डर पर जबरदस्त हलचल (Farmers Protest) है.

राकेश टिकैत ने कहा कि बीजेपी के लोग गुंडागर्दी कर रहे हैं, आंदोलन (Farmers Protest) जारी रखो. उन्होंन किसानों को संबोधित करते हुए गुरुवार की शाम को कहा कि कुछ हुआ तो प्रशासन जिम्मेवार होगा. राकेश टिकैत ने कहा कि बीजेपी के लोग गुंडागर्दी कर रहे हैं.

नरेश टिकैत की अपील

उधर भारतीय किसान यूनियन के सुप्रीमो चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि आंदोलनकारी गाजीपुर बॉर्डर ने धरना (Farmers Protest) खत्म कर दें. नरेश टिकैत ने कहा,

‘सब सुविधाएं बंद होने के बाद कैसे चलेगा धरना. कार्यकर्ताओं को धरना खत्म कर वापस चले जाना चाहिए. किसानों की पिटाई से अच्छा है कि वे धरना को खत्म कर दें.’

बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात

उधर गाजीपुर बॉर्डर पर भारी पुलिस बलों को तैनात किया गया है. गाजीपुर बॉर्डर को खाली करने के लिए अधिकारी पहुंचे हैं. गाजियाबाद के डीएम और एसएसपी मौके पर पहुंचे हुए हैं. उत्तर प्रदेश में किसानों का धरना खत्म कराने का योगी सरकार ने आदेश जारी किया है. योगी सरकार ने सभी जिलाधिकारियों और पुलिस-प्रशासन को धरना (Farmers Protest) खत्म कराने के निर्देश दिए हैं. बता दें कि यूपी के कई शहरों में कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन पिछले दो महीने से जारी है.

26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के बाद किसानों के आंदोलन पर दाग लग गया और कई सवाल उठने लगे. इस बीच, गाजीपुर बॉर्डर के पास भारी पुलिसबल को तैनात किया गया है. पैरामिलिट्री फोर्स, पीएसी की करीब दस कंपनियां तैनात हैं. गाजियाबाद पुलिस के भी बड़े अफसर यहां पर तैनात हैं. बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का धरना लगातार जारी है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें