Gujarat Exclusive > देश-विदेश > सिंघु बॉर्डर पर पुलिस से टकराव के बाद किसानों को दिल्ली में मिली एंट्री

सिंघु बॉर्डर पर पुलिस से टकराव के बाद किसानों को दिल्ली में मिली एंट्री

0
294

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) दिल्ली के दरवाजे से आगे बढ़ गया है. आखिरकार सरकार झुक गई है और किसानों को दिल्ली में एंट्री की इजाजत दे दी है. हालांकि, सिंघु बॉर्डर पर तनाव बना हुआ है. शुक्रवार को बवाल के बाद पुलिस ने किसानों को दिल्ली के बुराड़ी में मौजूद निरंकारी ग्राउंड में प्रदर्शन करने की इजाजत दी गई है.

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने कहा, प्रदर्शनकारियों को बरारी क्षेत्र में निरंकारी समागम मैदान में विरोध करने की अनुमति है. दिल्ली पुलिस के जवान उनके साथ रहेंगे.

यह भी पढ़ें: कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद को हाई कोर्ट से मिली जमानत

इससे पहले पंजाब-हरियाणा बॉर्डर से दिल्ली बॉर्डर तक तीन राज्यों की पुलिस ने 8 बार बड़ी नाकेबंदी कर किसानों (Farmers Protest) को रोकने की कोशिश की, लेकिन किसान हर बार ट्रैक्टर के सहारे आगे बढ़ते गए. दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि अहिंसक तरीके से आंदोलन करना हर भारतीय का अधिकार है. ऐसे में स्टेडियम को जेल नहीं बनाने देंगे.

जाम से बुरा हाल

बता दें कि किसानों के प्रदर्शन (Farmers Protest) की वजह से मेरठ के रास्ते पर भी कई किमी लंबा जाम लग गया है. इस जाम में एक एंबुलेंस फंस गई थी. इसमें एक बच्चा गंभीर रूप से बीमार था. बाद में कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस और आम लोगों ने मिलकर एंबुलेंस को जाम से बाहर निकाला गया. वहीं किसानों (Farmers Protest) के दिल्ली कूच के चलते हरियाणा के भिवानी में 20 किमी लंबा जाम लग गया. हरियाणा से दिल्ली को जोड़ने वाले रास्तों को पुलिस द्वारा बंद कर दिए जाने से भी शहर में अहम रास्तों पर जाम लग गया.

सिंघु बॉर्डर पर बड़ी तादाद में जमा हुए किसान

मालूम हो कि किसानों (Farmers Protest) को दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर रोक गया था. यहां वे बड़ी तादाद में ट्रैक्टर पर सवार होकर पहुंचे थे. पुलिस ने यहां आंसू गैस छोड़ी. कुछ देर पथराव भी हुआ. किसान दिल्ली में घुसने के लिए अड़े हुए थे. कुछ किसान वहीं धरने पर बैठ गए और खाना बनाने लगे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें