Gujarat Exclusive > देश-विदेश > किसानों ने ठुकराया सरकार से बातचीत का प्रस्ताव, अपनी मांग पर अड़े

किसानों ने ठुकराया सरकार से बातचीत का प्रस्ताव, अपनी मांग पर अड़े

0
286

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) 28वें दिन भी जारी रहा. इस बीच किसान संगठनों ने सरकार से बातचीत के मुद्दे पर आपस में बुधवार को चर्चा की. आपसी बैठक के बाद बातचीत के लिए सरकार की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को किसान संगठनों ने ठुकरा दिया है.

40 किसान (Farmers Protest) संगठनों की बैठक के बाद योगेंद्र यादव ने कहा कि हम तीनों कृषि कानूनों में किसी भी प्रकार के बदलाव की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि तीनों कानूनों को निरस्त करने की मांग करते हैं. न्यूनतम समर्थन मूल्य को लेकर जो प्रस्ताव सरकार से आया है उसमें कुछ भी साफ नहीं है और स्पष्ट नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार ठोस प्रस्ताव लिखित में भेजें और खुले मन से बातचीत के लिए बुलाए.

उधर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर किसान दिवस के अवसर पर कहा कि कई यूनियनों ने कृषि कानून (Farmers Protest) का समर्थन किया है जबकि एक संगठन ने 3 लाख किसानों का सपोर्ट हमें सौंपा है. उन्होंने कहा कि सरकार ने सुधार के लिए कई कदम उठाए हैं. बातचीत से ही मुद्दे हल हो सकते हैं. सरकार खुले मन से बातचीत के लिए तैयार है.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान पर महंगाई की मार, 30 रु. में मिल रहा एक अंडा और 1000 रु. किलो अदरक

किसान चौपाल से जुड़ेंगे पीएम

उधर दिल्ली के सीमाओं पर जारी विरोध प्रदर्शन (Farmers Protest) के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर 25 दिसंबर को पूरे उत्तर प्रदेश में ढाई हजार किसानों के चौपाल के साथ जुड़ेंगे. बीजेपी पूरे प्रदेश में ढाई हजार से अधिक जगहों पर किसानों से संपर्क का अभियान चलाएगी जिसमें प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे.

डैमेज कंट्रोल में लगी भाजपा

किसानों आंदोलन (Farmers Protest) के बीच भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने नए कृषि कानूनों के समर्थन में अपना अभियान तेज कर दिया है. उत्तर प्रदेश में 26 और 27 दिसंबर को बीजेपी के कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर की चिट्ठी को दिखाकर किसान हित में किए कार्यों को गिनाएंगे. इसके साथ ही मलिन बस्तियों में केंद्र की योजनाओं को बताएंगे.

वहीं किसान दिवस पर कांग्रेस का कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है. थाली पीटकर किसानों के समर्थन में कांग्रेस ने आंदोलन शुरू किया है. प्रदर्शन को देखते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को हाउस अरेस्ट कर लिया गया है.

संबित पात्रा ने बोला हमला

संबित पात्रा ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कृषि कानूनों के विरोध (Farmers Protest) पर लेफ्ट पार्टियों पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा लेफ्ट जहां भी होती है वहीं न तो किसान बचते हैं और ना ही अर्थव्यवस्था. उन्होंने सवाल किया कि लेफ्ट वाले बताएं कि केरल में APMC मंडियां क्यों नहीं हैं?

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें