Gujarat Exclusive > देश-विदेश > पुलवामा हमले में आतंकी को मदद पहुंचाने के आरोप में कश्मीर से पिता-पुत्री गिरफ्तार

पुलवामा हमले में आतंकी को मदद पहुंचाने के आरोप में कश्मीर से पिता-पुत्री गिरफ्तार

0
270

पिछले साल हुए पुलवामा हमले में आतंकियों को मदद पहुंचाने के आरोप में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने कश्मीर से एक पिता और पुत्री को गिरफ्तार किया है. पिछले साल पुलवामा में सीआरपीएफ (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के सिलसिले में मंगलवार को एनआईए द्वारा यह गिरफ्तारी की गई. फरवरी 2019 में हुए आतंकी हमले में अर्धसैनिक बल के 40 जवान शहीद हुए थे. अधिकारियों ने बताया कि पिता-पुत्री की पहचान पीर तारिक और इंशा के रूप में हुई है.

इन दोनों को हिरासत में लेने के लिए जम्मू लाया गया है. पिछले साल 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले की जांच एनआईए कर रही है. हमले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी आदिल अहमद डार ने विस्फोटक से लदी अपनी कार से सीआरपीएफ के काफिले को टक्कर मार दी थी. हमले में 40 जवान शहीद हुए थे. आदिल का अंतिम वीडियो आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान से जैश-ए-मोहम्मद ने जारी किया था. वीडियो दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के हदकीपोरा स्थित इनके आवास पर बनाया गया था.

NIA ने हाल ही में पुलवामा हमले में कथित संलिप्तता में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी को भी गिरफ्तार किया था. अधिकारियों ने बताया कि 22 वर्षीय शाकिर बशीर मार्गे ने आत्मघाती बम हमलावर आदि अहमद डार को शरण और साजो-सामान संबंधी मदद मुहैया करायी थी. मार्गे पुलवामा के काकापोरा के हाजीबल का रहने वाला है और उसकी फर्नीचर की दुकान है. पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक ने 2018 के मध्य में मार्गे की डार से पहचान करवायी थी और वह जैश के वास्ते काम करने में पूरी तरह जुट गया था.