Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > रियल स्टेट सेक्टर में कड़ी शर्तों के साथ शुरू होगा निर्माण कार्य, 20 फीसदी तक घट सकते हैं फ्लैट के दाम

रियल स्टेट सेक्टर में कड़ी शर्तों के साथ शुरू होगा निर्माण कार्य, 20 फीसदी तक घट सकते हैं फ्लैट के दाम

0
945

देश में जारी लॉकडाउन (तालाबंदी) रियल एस्टेट सेक्टर के लिए बेहद नुकसानदेह साबित हो सकता है. जानकारों का मानना है कि इसकी वजह से तैयार मकानों के दाम 20 फीसदी तक गिर सकते हैं. मालूम हो कि सरकार ने ​रियल एस्टेट में कड़ी शर्तों के साथ 20 अप्रैल के बाद काम शुरू करने की इजाजत दी है.

गौरतलब है कि लॉकडाउन से रियल एस्टेट सेक्टर को काफी नुकसान हो रहा है और इस वजह से इसमें निर्माण कार्य शुरू करने देने की इजाजत इस सेक्टर के लोग मांग रहे थे. लेकिन सरकार ने कुछ शर्तों के साथ सीमित इजाजत दी है.

गृह मंत्रालय द्वारा बुधवार को जारी निर्देश में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न तरह की परियोजनाओं में 20 अप्रैल के बाद निर्माण कार्य की इजाजत होगी, लेकिन शहरी क्षेत्रों में सिर्फ उन्हीं प्रोजेक्ट में निर्माण कार्य किया जा सकेगा, जहां मजदूरों को बाहर से लाने की जरूरत नहीं है. यह इजाजत भी उन्हीं इलाकों में होगी जहां संक्रमण का कोई केस नहीं है या हॉटस्पॉट नहीं है.

मालूम हो कि देश में कोरोना वायरस के कारण सैकड़ों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और हजारों लोग इस बीमारी के संक्रमण में फंसे हुए हैं. इसको ध्यान में रखकर सरकार ने लॉकडाउन को बढाकर 3 मई तक कर दिया है. हालांकि इससे अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान होनी की उम्मीद है.

कोरोना का कहर: तीन जोन में होगा जिलों का बांटवारा, 170 जिलों में कोरोना हॉटस्‍पॉट