Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात के इन जिलों में अगले 5 दिनों में अतिभारी बारिश का पूर्वानुमान

गुजरात के इन जिलों में अगले 5 दिनों में अतिभारी बारिश का पूर्वानुमान

0
11476

अहमदाबाद: गुजरात में पिछले कुछ दिनों से बारिश का मौसम देखा जा रहा है. कई जिलों में होने वाली भारी बारिश की वजह से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

ऐसे में एक बार फिर से मौसम विभाग ने अगले 5 दिनों में भारी बारिश की चेतावनी दी है.

भारी बारिश की चेतावनी के बाद NDRF की टीमों को बाढ़ की संभावना को मद्देनजर रखते हुए कई तहसीलों में तैनात कर दिया गया है.

पिछले कुछ दिनों से हो रही है भारी बारिश 

पिछले कुछ दिनों से गुजरात के कई जिलों में भारी बारिश हो रही है. भारी बारिश के कारण लोगों को परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है.

सूरत में होने वाली भारी बारिश के बाद तापी नदी दो तटों पर बहने लगी है. बंगाल की खाड़ी में पैदा होने वाले लो प्रेशर की वजह से गुजरात में बारिश का मौसम एक बार फिर से सक्रिय हो गया है.

मौसम विभाग ने अगले 5 दिनों तक पूरे गुजरात में भारी बारिश संभावना जताई है.

यह भी पढ़ें: गुजरात में पांव पसारता कोरोना, 24 घंटे में 1118 मामले और 23 मौतें

एनडीआरएफ की टीम को रखा गया स्टैंड बाय 

मौसम विभाग ने आगामी 16-17 अगस्त को उत्तर गुजरात और सौराष्ट्र में भारी से अति भारी बारिश के अनुमान की वजह से मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सूचना देने के साथ ही साथ प्रतिबंध भी लगा दिया गया है.

इसके अलावा एनडीआरएफ की टीम को बारिश के पूर्वानुमान के बाद स्टैंड बाय पर रखा गया है.

इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश 

12 अगस्त को बनासकांठा, पाटन, अरवल्ली, दाहोद, महिसागर, भरूच, वलसाड, दमण, दादर नगर हवेली और द्वारका.

13 अगस्त को वलसाड, दमण, दादर नगर हवेली, नर्मदा, सूरत, तापी और नवसारी.

14 अगस्त को नवसारी, वलसाड, दमण, दादर नगर हवेली, नर्मदा, भरूच, सूरत, डांग, तापी, जूनागढ़ और गिर सोमनाथ.

15 अगस्त को सूरत, वडोदरा, नर्मदा, भरूच, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, आणंद, डांग, तापी, नवसारी, वलसाड, दमण, दादर नगर हवेली और कच्छ.

जबकि 16 अगस्त को बनासकांठा, द्वारका, साबरकांठा, जामनगर, भावनगर, पाटन, गांधीनगर, मेहसाणा, कच्छ, जूनागढ़, गिर सोमनाथ में भारी बारिश की उम्मीद जताई गई है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

लाउडस्पीकर बजाने से बढ़ रहा है कोरोना का खतरा: भुज तहसीलदार